प्रदेश में Congress Government बनते ही मनरेगा मजदूरों को लोक निर्माण विभाग की तर्ज पर 350 रुपए दी जाएगी दिहाड़ी

Spread the News

पालमपुर : प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही मनरेगा मजदूरों को लोक निर्माण विभाग की तर्ज पर 350 रुपए दिहाड़ी दी जाएगीं। वहीं जो सहूलियतें हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण श्रम कल्याण बोर्ड से पंजीकृत मजदूरों को मिलती थी, उन्हें फिर से बहाल तो क्या ही जाएगा, साथ में अन्य सुविधाएं भी दी जाएगी। यह बात पालमपुर में इंटक के मजदूर सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस की वरिष्ठ नेताओं प्रतिभा सिंह, मुकेश अग्निहोत्री व सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहीं। इंटक प्रदेश अध्यक्ष बाबा हरदीप सिंह, महामंत्री सीता राम सैनी, सचिव गुरदास राम, प्रेम भाटिया, विनोद चौधरी ने कांग्रेस नेताओं को महा सम्मेलन के जरिए 20 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। मांग पत्र में इंटक नेताओं ने मांग रखी कि जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो 15.5.2003 के बाद सभी सरकारी और अर्ध सरकारी विभागों में कार्यरत कर्मचारियों की पुरानी पैंशन बहाल की जाएं। सभी विभागों, निगमों और बोडरे में कार्यरत आऊट सोर्स कर्मचारियों को विभागों में समायोजित किया जाएं।

हिमाचल पथ परिवहन निगम कर्मचारियों को नया वेतन मान दिया जाए तथा उनके बकाया भत्ताें की अदायगी की जाएं। न्यूनतम वेतन 18 हजार किया जाएं। हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण श्रम कल्याण बोर्ड में पिछले तीन वर्षो से सभी सुविधाओं के क्लेम लम्बित पडे हैं, उनका भुगतान एक माह के भीतर किया जाएं। हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण श्रम कल्याण बोर्ड में पंजीकृत लाभार्थियों को कोविड-ं19 के तहत वर्ष 2020 में 6 हजार रुपए की मुआवजा राशि सरकार द्वारा देनी आरम्भ की थी। यह राशी केवल 60 प्रतिशत लाभार्थियो को ही मिली है। परन्तु अभी तक 40 प्रतिशत लाभार्थी इस राशी से वान्चित रह गए। निवेदन है कि इस राशी को भी एक माह के भीतर चैकों के माध्यम से आंबटित किया जाएं।

श्रम एवं रोजगार विभाग में पंजीकृत बेरोजगार लोगों को उनकी योग्यता अनुसार जल शक्ति विभाग और लोक निर्माण विभागाें में साक्षात्कार के माध्यम से रोजगार दिया। ताकि वरिष्ठता अनुसार रोजगार कार्यालय से विभागों को नाम भेजे जा सके। हिमाचल प्रदेश की ग्राम पचायतो में कार्यरत चैकीदारों को रैगलुर किया जाएं। हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य सनिर्माण श्रम कल्याण बोर्ड द्वारा जो वाशिंग मशीन, इन्डैक्सन हीटर बांटना बन्द कर दिया है उसे तुरन्त दोबारा बांटना आरम्भ किया जाए । हिमाचल प्रदेश में सरिये के दामो को भी कम किया जाएं। सरकार से अनुरोध है कि श्रम विभाग की ड्यूटी लगाई जाए कि मजदूरो का शोषण न किया जाएं।

24 जल शक्ति विभाग में 6 घंटे के लिए पैरा पम्प आप्रेटर पैरा फिटर रखना गैर कानूनी है और उन कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन से भी कम वेतन देना और भी गैर कानूनी है। किसी भी कर्मचारी को 2 से 4 घंटे के लिए अंशकालीन आधार पर रखा जाए या फिर उन्हे पूरे दिन के लिए 8 घण्टे के लिए रखा जाएं। तथा उन्हे राजकीय अधीसूचना के तहत न्यूनतम वेतन दिया जाए ।102, 108 एम्बूलैंस सेवा के साथ कार्यरत कर्मचारियो के लिए स्थाई निति बनाई जाएं। हिमाचल पथ परिवहन निगम को रोडवेज बनाया जाए और बिजली बोर्ड की तरह कर्मचारियों के वेतन भत्तों के लिए बजट मे प्रावधान किया जाएं। हिमाचल पथ परिवहन निगम मे सेवारत एंव सेवानिवृत कर्मचारियों के बकाया भत्तो की अदायगी की जाएं। व इसमें विभिन्न श्रेणियाें की वेतन विसंगतियों को दूर किया जाएं।

जल शक्ति विभाग में वाटर वर्कस कर्लक, शिकायत कर्लक और स्टोर कर्लकों को वरिष्ठ सहायक व अधीक्षक ग्रेड-ंउचय2 के पद पर इसी कैडर मे पदोन्नत किया जाएं। वर्तमान प्रदेश सरकार द्वारा लिए गये सभी मजदूर एवं कर्मचारी विरोधी फैसलो को रद्द किया जाए ।जिला परिषद कैडर के कर्मचारियों को पंचायती राज विभाग में समायोजित किया जाएं। उक्त मांगो के संदर्भ में मजदूर सम्मेलन में पालमपुर के विला कैमेलिया में हजारों की संख्या में मजदूर इक्कठे हुए। इस मौके पर इंटक के कार्यक्रम में मुकेश अग्निहोत्री, सुखिवंद्र सिंह सुक्खू, सुधीर शर्मा, राजेन्द्र राणा, अजय महाजन, पवन काजल, आशीष बुटेल, विक्र मादित्य, भवानी, संजय रत्न, चन्द्र कुमार, किशोरी लाल, सुरेंद्र पाल, जगजीवन, केवल सिंह, यादविंदर गोमा, जगदीश सिपिहया, बाबा हरदीप सिंह, रघुवीर सिंह वाली, जगत राम, सीता राम सैनी, गुरदास सांख्यान, सहित इंटक नेता व कांग्रेस के विधायक, पूर्व विधायक, पदाधिकारी, युंका पदाधिकारी उपस्थित रहे।

उमड़ी भीड़ में महिलाओं की संख्या अधिक रही

इंटक महासम्मेलन में जहां कांग्रेस नेताओं ने एकजूटता का परिचय मंच से दिया। वहीं यहां पर भारी संख्या में उमडी भीड में महिलाओं की संख्या अधिक रही। महिलाओं में प्रतिभा सिंह को सुनने का भी जनून देखा गया। जगह जगह पर प्रतिभा सिंह का जोरदार स्वागत किया गया।