New Born Baby को हर infection से बचाएं, फॉलो कीजिये ये तरीके

Spread the News

बच्चे बहुत ही सेंसटिव होते है। उन्हें कोई भी इन्फेक्शन या बीमारी बहुत जल्द पकड़ लेती है। इसीलिए बच्चों के लिए ज़रा सी भी लापरवाही बीमारी का कारण बन सकती है। खास कर नवजात शिशु को देखभाल बहुत अधिक ज़रूरत होती है। उन्हें हर इन्फेक्शन से कैसे बचाना है इस बात का ध्यान रखना बहुत ही आवश्यक होता है। आज हम आपको कुछ ऐसी टिप्स के बारे में बताने जा रहे है जिन्हे अपनाने से आप अपने बच्चो का बहुत ही अच्छे से ध्यान रख सकते है और और उन्हें किसी भी तरह की इन्फेक्शन से बचा सकते है। तो आइए जानते है उन कुछ टिप्स के बारे में :

समय-समय पर लगवाएं टीके
नवजात शिशु को समय पर टीका लगवाते रहें। बच्चे को जन्म के एक महीने बाद टीका लगता है। डॉक्टर बच्चे को टीका लगाने के बाद एक कार्ड भी देते हैं। इससे आपकी तारीक याद रखने में कोई दिक्कत नहीं होगी। अच्छे अस्पताल से ही बच्चों को टीका लगवाएं। बच्चे के पास रहने वाले उसके माता-पिता या किसी भी परिजन का टीका लगाना भी जरुरी है। ताकि बच्चे को उनसे भी किसी तरह का इंफेक्शन न हो।

बच्चे का हाईड्रेट रहना है जरुरी
बच्चे को अपना दूध समय-समय पर पिलाएं। उनका हाइड्रेट रहना भी जरुरी है। यदि आपके बच्चे का हाइड्रेशन ठीक रहेगा। तो उसका रेस्पिरेटरी ट्रेक भी ठीक रहेगा। बच्चे को 4- 6 डायपर बदलने पड़े इतना दूध बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए ठीक होता है। यदि आप अपना दूध नहीं दे सकते तो बच्चे को बाजारी दूध जरुर पिलाएं। इससे वे हाइड्रेट रहेंगे।

शारीरिक विकास जरुरी
आपके बच्चे का अच्छे से विकास हो रहा है कि नहीं इस बात का भी खास ध्यान रखें। बच्चा ठीक से देख पा रहा है या नहीं , आपकी बातों का समझ पा रहा है। उसका वजन कम तो नहीं है। इन सारी बातों पर ध्यान देते रहें। बच्चे को दूध पचाने में कोई समस्या तो नहीं हो रही। सारी बातों पर समय-समय पर गौर करते रहें

बेस्ट फीडिंग जरुर करवाएं
बच्चे के लिए मां का दूध बहुत ही जरुरी होता है। इससे उनकी इम्यूनिटी मजबूत होती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, 6 महीने तक ब्रेस्टफीडिंग जरुरी है। मां के दूध में पोषक तत्व पाए जाते हैं जो बच्चे के विकास के लिए बहुत ही जरुरी होते हैं। स्तनपान करवाने से बच्चे का स्वास्थ्य अच्छा रहता है और मां की शरीर को भी बहुत सी एंटीबॉडी मिलती हैं।

तापमान पर करें गौर
यहां पर आपने बच्चे को सुलाया है ध्यान रखें कि उस कमरे का तापमान ठीक हो। ताकि बच्चे का स्वास्थ्य खराब न हो। बच्चे के लिए न ज्यादा ठंडा और न ज्यादा गर्म तापमान होना चाहिए। बच्चे को सामान्य तापमान में सुलवाएं। आप बच्चे को कॉटन के ब्लैंकेट भी दे सकते हैं। बच्चे को कूलर और एसी जैसे आर्टिफिश्यल हवा से दूर रखें। इससे उन्हें ठंड भी लग सकती है।

इंफेक्शन से बचाने के लिए ये बातों का रखें ध्यान
. रोजाना बच्चे को नहलाएं और स्पंज से उसके शरीर को साफ करें।
. बच्चे को नैपी पहनाने से पहले अच्छे से साफ करें । आप गर्म पानी और कॉटन के तोलिए से बच्चे के नैपी एरिया को साफ कर सकते हैं।
. ब्रेस्टफीडिंग करने के बाद बच्चे के दांत, मुंह साफ पानी से धोएं। इससे उनके चेहरे पर किसी भी तरह की इंफेक्शन नहीं होगी।