जामुन का अधिक सेवन हो सकता है हानिकारक, जानिए कैसे

Spread the News

फल हमारी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते है चाहे वह कोई भी फल क्यों ना हो। जामुन हमारी सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। जामुन खाने में जितना स्वादिष्ट होता है उतना ही गुणकारी भी होता है। इसमें कैल्शियम, आयरन, विटामिन-सी, विटामिन-बी और भी कई गुणों से भरपूर होता है। जामुन के पोषक तत्व हमारी बहुत सी गंभीर बीमारियों को कम करता है। आपको बता दे के जामुन का अधिक सेवन भी हमारी सेहत के लिए हानिकारक भी साबित भी हो सकता है। आइए जानते है कैसे:

पेट खराब
यदि आप खाली पेट जामुन खाते हैं तो आपका पाचन तंत्र खराब हो सकता है। पाचन तंत्र खराब होने के कारण आपके पेट में गैस, पेट फूलना, अपच, कब्ज जैसी समस्याएं हो सकती है। इसके अलावा यदि आप पहले से ही पेट संबंधी समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो खाली पेट जामुन खाने से आपकी समस्याएं और भी ज्यादा बढ़ सकती हैं।

शरीर में दर्द और बुखार
यदि आप सुबह खाली पेट आम खाते हैं तो आप शरीर में दर्द भी हो सकता है। इसके अलावा आपको बुखार और एलर्जी जैसी परेशानियां भी हो सकती हैं।

छाती और गले में जलन
खाली पेट जामुन खाने से आपको छाती और गले में भी जलन जैसी परेशानियां हो सकती हैं। यदि आप सुबह खाली पेट जामुन खाते हैं तो आपके फेंफड़ों में बलगम जमा होने लगता है, इससे आपको खांसी भी हो सकती है। इसके अलावा आपको गले में जलन भी हो सकती है।

health benefits of jamun Black Plum – News18 हिंदी

ब्लड शुगर होगी कम
जामुन का सेवन वैसे तो हाई ब्लड शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है, क्योंकि यह ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में सहायता करता है। परंतु यदि आप इसका सेवन सुबह खाली पेट करते हैं तो यह शरीर में सामान्य ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकती है। इसके अलावा यदि आप लो-ब्लड शुगर की समस्या से परेशान हैं तो ऐसे में आपकी समस्या और भी ज्यादा बढ़ सकती है।

स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए नुकसानदायक
एक्सपर्ट्स के अनुसार, स्तनपान करवाने वाली महिलाओं का सुबह खाली पेट जामुन का सेवन करने से बिल्कुल परहेज करना चाहिए। इससे उन्हें बुखार, शरीर में दर्द, एलर्जी जैसी समस्याएं हो सकती हैं। यदि आप स्वस्थ नहीं हैं तो इससे दूध की गुणवत्ता पर भी प्रभाव पड़ सकता है। बच्चे के स्वास्थ्य को भी नुकसान हो सकता है। इसलिए स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को जामुन का सेवन नहीं करना चाहिए।