संसद के मानसून सत्र में पेश किए जा सकते हैं करीब एक दर्जन नए विधेयक, संसदीय कार्य और संस्कृति राज्य मंत्री ने विभिन्न मंत्रालयों के सचिवों के साथ की बैठक

Spread the News

नई दिल्ली: संसद के 18 जुलाई से शुरू होने वाले मानसून सत्र के दौरान सरकार करीब 1 दर्जन नए विधेयकोंको पेश कर सकती है। सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि संसद में अभी भारतीय अंटार्कटिक विधेयक, बाल विवाह रोकथाम संशोधन विधेयक, राष्ट्रीय डोपिंग रोधी विधेयक और जैव विविधता संशोधन विधेयक जैसे महत्वपूर्ण विधेयक लंबित हैं। उन्होंने बताया कि सत्र के दौरान करीब 1 दर्जन नए विधेयक पेश किए जा सकते हैं। संसदीय कार्य और संस्कृति राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने बुधवार को संसद के आगामी मानसून सत्र के लिए विधायी एवं सरकारी कामकाज से जुड़े विषयों की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए विभिन्न मंत्रालयों/विभागों के सचिवों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक की। संसदीय कार्य मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि बैठक में विभिन्न मंत्रालयों एवं विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों ने अपने-अपने मंत्रालयों द्वारा प्रस्तावित कामकाज पर कजानकारी दी।

गौरतलब है कि संसद का मानसून सत्र 18 जुलाई से 12 अगस्त तक चलेगा। इसमें कुल 26 दिनों की अवधि में 18 बैठकें होंगी। संसद का यह सत्र खास रहने वालाहै क्योंकि 18 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान होना है। दूसरीओर, उपराष्ट्रपति का चुनाव 6 अगस्त को होगा। उपराष्ट्रपति पद के लिए यदि निर्विरोध निर्वाचन नहीं हुआ तो उसी दिन मतों की गणना भी होगी। विपक्ष अग्निपथ योजना, बेरोजगारी व महंगाई, जांच एजैंसियों के कथित दुरूपयोग जैसे मुद्दों पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है।