Tax Commissioner Kamal Kishore Yadav ने अधिकारियों को टैक्स चोरी करने वालों के साथ नरमी न बरतने की नीति अपनाने के दिए हुक्म

Spread the News

चंडीगढ़ / अमृतसर : पंजाब के कर कमिश्नर कमल किशोर यादव ने आज विभाग के अधिकारियों को राज्य में राजस्व बढ़ाने के लिए टैक्स चोरी करेन वालों के प्रति कोई नरमी न बरतने की नीति अपनाने के हुक्म दिए हैं। टैक्स वसूली का जायज़ा लेने के लिए विभाग की मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये कर कमिश्नर ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि टैकस चोरी रोकने में किसी भी तरह की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि हर अधिकारी का यह फर्ज बनता है कि टैक्सों की चोरी, यदि कोई हो, को सख़्ती से रोका जाए। उन्होंने कहा कि टैक्सों की चोरी से सरकारी खजाने को भारी नुक्सान होता है जोकि किसी भी तरह असहनीय है। उन्होंने कहा कि विभाग अब टैक्स चोरी करने वालों के विरुद्ध शिकंजा कसेगा।

उन्होंने टैक्सों के लम्बित बकाए की जल्द वसूली के लिए भी यत्न तेज़ करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों को इच्छुक डिफालटरों से बकाए की वसूली के लिए बड़ी रिकवरी मुहिम शुरू करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य में टैक्स वसूली को बढ़ाने के लिए यह समय की ज़रूरत है। अधिकारियों की तरफ से टैक्स सुधारों के लिए पेश किए गए नए विचारों का स्वागत करते हुये कर कमिश्नर ने कहा कि टैक्स सुधारों के लिए नयी पहलकदमियां की जानी चाहिएं। उन्होंने कहा कि विभाग अधिकारियों की तरफ से दिए ऐसे नये और गतिशील विचारों को राज्य स्तर पर भी दोहराएगा। उन्होंने कहा कि विभाग राज्य में टैक्स वसूली को और बेहतर बनाने के लिए अथक मेहनत कर रहा है।

अमृतसर के जि़ला टैक्स बार और जी. एस. टी. प्रैकटीशनरज़ एसोसिएशन ने भी अमृतसर दौरे पर गए कर कमिश्नर सामने अपनी मांगें रखीं। उन्होंने वेट मामलों के लिए एकमुशत स्कीम लाने और अमृतसर में जी. एस. टी. भवन के निर्माण सहित अलग-अलग नुक्तों पर भी चर्चा की। उन्होंने कमिश्नर को अपनी तरफ से हर तरह के सहयोग का भरोसा दिया और उनकी पहुँच के लिए स्थानीय अधिकारियों की सराहना की। इस मौके पर उनके साथ जी. एस. टी. की डायरैक्टर ब्रह्मनीत कौर, अतिरिक्त कमिश्नर रवनीत खुराना और विराज श्यामकरन टिडके भी मौजूद थे।