Shimla में नकली नोट छापने का चल रहा था कारोबार, Haryana से जुड़े तार

Spread the News

शिमला : हिमाचल की राजधानी शिमला में नकली नोट छापने का कारोबार चल रहा था। शिमला के उपनगर संजौली में किराए के मकान में नकली नोट बनाए जा रहे थे। हरियाणा की हिसार क्राइम ब्रांच की पुलिस ने नकली नोट छापने के कारोबार का भंडाफोड़ किया और एक युवक को गिरफ्तार कर हिसार ले गई। हैरत ये की शिमला पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। हिसार पुलिस की टीम ने गुपचुप तरीके से गिरफ्तारी को अंजाम दिया। सूत्रों के मुताबिक पुलिस को आरोपितों के कमरे से लैपटॉप, प्रिंटर मोबाइल फोन सहित कुछ नोट भी बरामद किए हैं।

पुलिस इन्हें कब्जे में लेकर अपने साथ ले गई है। आरोपित की पहचान नवनीत पुत्र इंद्र सिंह गांव मुंडखर डाकघर तलेली पुलिस स्टेशन सुंदरनगर जिला मंडी के तौर पर की गई है। ये संजौली के नागदेवा भवन में किराए के कमरे में रहता था। नकली नोट बनाने वाले युवाओं ने एक तरफ के नोट प्रिंट कर दिए थे। हिसार पुलिस ने इस मामले में कुछ दिन पहले मुख्य आरोपित को गिरफ्तार किया था। मुख्य आरोपित से पूछताछ के आधार पर पुलिस शिमला पहुंची और यहां से एक आरोपित को गिरफ्तार किया।

4 युवकों ने किराए पर लिया था कमरा

पुलिस से प्राप्त सूचना के अनुसार दिल्ली और हरियाणा के युवकों ने संजौली में किराए पर कमरा लिया था। मकान मालिक को उन्होंने अपना नाम अबन बताया था। उन्होंने यह कहा था कि वह स्टूडेंट है। मकान मालिक को झूठ बोलकर उन्होंने कमरा किराए पर लिया। कमरे में अंदर वह नकली नोट छापने का काम कर रहे थे। इनके साथ कुछ स्थानीय युवक के भी शामिल होने का अंदेशा है। पुलिस इस मामले में केवल एक गिरफ्तारी बता रही है। सूत्रों का कहना है कि दो लोगों को शिमला से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी से पहले हरियाणा पुलिस ने शिमला पुलिस को सूचना दी।

शिमला पुलिस को दी थी सूचना : एसपी

शिमला जिला पुलिस अधीक्षक से डॉ. मोनिका भुटूंगरू ने बताया कि हिसार से पुलिस की टीम ने शिमला में एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। शिमला पुलिस को सूचना दी है कि ये नकली नोट छापने का काम करता था। इस मामले की जांच हिसार पुलिस कर रही है।

Exit mobile version