राघव चड्ढा अब होंगे पंजाब के असली मुख्यमंत्री : BJP महासचिव Subhash Sharma

Spread the News

चंडीगढ़ : पंजाब सरकार की एडवाइजरी कमेटी का राघव चड्ढा को चेयरमैन बनाए जाने के फैसले की भारतीय जनता पार्टी ने कड़ी आलोचना की है। पार्टी ने इस फैसले को तुरंत वापस लिए जाने की मांग करते हुए कहा कि प्रदेश के लोग इसे सहन नहीं करेंगे, क्योंकि यह दिल्ली के आकाओं के सामने घुटने टेकने के समान है। भाजपा के प्रदेश महासचिव डॉ सुभाष शर्मा ने कहा कि पार्टी पहले दिन से कह रही थी कि भगवंत मान, अरविंद केजरीवाल के हाथों की कठपुतली हैं। पहले राघव चड्डा पिछले दरवाजे से सरकार चलाते थे और अब वह खुलेआम अधिकारों का इस्तेमाल करके सरकारी फैसलों में दखलअंदाज़ी करेंगे। शर्मा ने कहा कि यह चड्ढा को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाने की दिशा में पहला कदम है।

भाजपा नेता ने सरकार के दावों पर भी चुटकी लेते हुए कहा कि वह चड्ढा को कोई फायदा नहीं देगी और यह सब ऑफिस ऑफ प्रॉफिट के प्रावधानों से बचने के लिए किया गया है, ना कि पंजाब के पैसे बचाने के लिए, क्योंकि चड्डा राज्यसभा सांसद है, अन्यथा सरकार ने उन्हें फायदे भी देती। शर्मा ने कहा कि चड्डा को एडवाइजरी कमेटी का चेयरमैन बनाने संबंधी फैसला यूपीए सरकार के उस फैसले की तरह है, जब उसने एक एडवाइजरी कमेटी बनाकर सोनिया गांधी को उसका चेयरमैन नियुक्त कर दिया था, जबकि डॉ मनमोहन सिंह को एक रबड़ स्टैंप प्रधानमंत्री बना दिया गया था।

प्रदेश भाजपा महासचिव ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि पंजाब को दिल्ली से नहीं चलाया जा सकता और पंजाब के लोगों ने चड्ढा को बतौर मुख्यमंत्री वोट नहीं दिए है। उन्होंने आप नेतृत्व से कहा कि जितनी जल्दी इस फैसले को वापस लिया जाए बेहतर होगा।