अकाली-भाजपा और Congress ने सत्ता में रहते पंजाब की पीठ में मारा छुरा: Malwinder Singh Kang

Spread the News

आम आदमी पार्टी पंजाब के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने चंडीगढ़ मुद्दे पर अकाली दल बादल और कांग्रेस को घेरा और कहा कि पंजाब और केंद्र की सत्ता में रहते हुए दोनों पार्टियों को चंडीगढ़ की कभी याद नहीं आई। अब ये लोग इस मामले का हल करने के बजाए गंदी राजनीति कर रहे हैं।

मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में मीडिया को संबोधित करते हुए कंग ने कहा कि अकाली-भाजपा और कांग्रेस की सरकारों ने पंजाब के अधिकारों का कभी ख्याल नहीं रखा। अकाली दल बादल ने पंजाब पर करीब 20 साल राज किया और 28 साल कांग्रेस ने राज किया। इतने दिनों तक चंडीगढ़ का मामला ठीक था। अब सत्ता से बाहर होते ही इन लोगों को पंजाब और चंडीगढ़ की फिक्र होने लगी है।

कंग ने कहा कि चंडीगढ़ पंजाब का है और हमेशा रहेगा। चंडीगढ़ शहर पंजाब की राजधानी बनाने के लिए पंजाब की जमीन पर बसाया गया था। पंजाब के गांव को उजाड़ कर चंडीगढ़ बनाया गया था। हम किसी भी कीमत पर चंडीगढ़ पर पंजाब का अधिकार कमजोर नहीं होने देंगे। कंग ने विपक्षी पार्टियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि वे लोग आम आदमी पार्टी और मुख्यमंत्री भगवंत मान पर पंजाब का हक कमजोर करने का आरोप लगा रहे हैं। फिर चंडीगढ़ से पंजाब के सरकारी दफ्तरों को बादल और कांग्रेस की सरकारों ने मोहाली में शिफ्ट क्यों किया? बादल सरकार के समय न्यू चंडीगढ़ क्यों बसाया गया? दरअसल, चंडीगढ़ पर पंजाब का अधिकार इन दोनों पार्टियों की सरकारों ने ही कमजोर किया है।

उन्होंने बादल परिवार पर आरोप लगाया कि केन्द्र की भाजपा सरकार को खुश करने के लिए बादलों ने चंडीगढ़ के नजदीक की सारी जमीनें खुद खरीदी और उन जमीनों को बेचने के लिए भाव महंगे किये। इन लोगों ने अपने निजी फायदे के लिए चंडीगढ़ पर पंजाब का अधिकार कमजोर किया और लोगों की भावनाओं के साथ खेला। प्रेस कॉन्फ्रेंस में मलविंदर कंग के साथ आप नेता डॉ. सनी सिंह आहलूवालिया और जगतार सिंह संघेड़ा भी मौजूद थे।