UP : सुप्रीम कोर्ट ने बुल्डोजर एक्‍शन पर रोक लगाने से क‍िया इंकार, दायर याचिका पर 10 अगस्त को होगी सुनवाई

Spread the News

लखनऊ : सुप्रीम कोर्ट ने आज बुल्डोजर एक्‍शन पर जमीयत उलेमा-ए-हिंद की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट ने व‍िध्‍वंस पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह अधिकारियों को कार्रवाई करने से रोकने के लिए एक व्यापक आदेश पारित नहीं कर सकता। न्यायमूर्ति बी.आर. गवई और न्यायमूर्ति पी.एस. नरसिम्हा की पीठ ने पक्षकारों से मामले में दलीलें पूरी करने को कहा। जमीयत उलमा-ए-हिंद द्वारा विध्वंस के खिलाफ दायर याचिका पर अब 10 अगस्त को सुनवाई होगी।

उत्तर प्रदेश में विध्वंस अभियान मामले में सालिसिटर जनरल तुषार मेहता ने याचिकाकर्ताओं की दलील पर आपत्तियां उठाते हुए और सुप्रीम कोर्ट को अवगत कराते हुए कहा क‍ि यूपी सरकार के अधिकारियों द्वारा जवाब दायर किया गया है कि प्रक्रिया का पालन किया गया था। इसके ल‍िए नोटिस पहले ही जारी किए गए थे। आगे कहा कि अवैध सम्‍पत‍ियों पर बुल्डोजर चलाने की प्रक्रिया दंगों से बहुत पहले शुरू हुई थी।

बता दें क‍ि जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज जिले में हिंसा के बाद हुई कार्रवाई पर सरकार ने कहा कि जो अवैध निर्माण हटाए गए, वो तो वहां पर विकास प्राधिकरण ने हटाए हैं। यह नगर के विकास पर काम करने वाली स्वायत्त संस्था है, सरकार के अधीन नहीं है।

सरकार ने अपने जवाब में जेएनयू की छात्रा नेता आफरीन के पिता जावेद मोहम्मद के प्रयागराज में मौजूद घर का भी हवाला दिया और ने कहा था क‍ि यहां पर निर्माण प्रयागराज डेवलपमेंट अथारिटी रूल के अनुसार अवैध था। घर को दंगों के बाद जरूर ढहाया गया, लेकिन इसको लेकर कार्रवाई दंगों से बहुत पहले ही शुरू हो गई थी।