Jalandhar में ‘खालिस्तानी’ नारे लिखने वाले करनाल जेल में बंद मंजीत सिंह को प्रोडक्शन वारंट पर लाई पुलिस

Spread the News

जालंधर: जालंधर में श्री देवी तालाब मंदिर की दीवारों पर ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लिखने वाले आरोपी पटियाला के गांव गुरदित्तपुर के मनजीत सिंह को जालंधर पुलिस का सीआईए स्टाफ तथा थाना तीन की पुलिस करनाल से गिरμतार कर लाई है। आरोपी ने खुलासा किया है कि उसने डेढ़ लाख लेकर इस वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। रिमाडं के दौरान पुलिस उन देश विरोधी ताकतों के गिरेबां तक पहुंचने की तैयारी कर रही है। प्रैस कांफ्रैंस के दौरान डीसीपी इंवैस्टिगेशन जसकिरणजीत सिंह तेजा ने बताया कि 15 जून की सुबह श्री देवी तालाब मंदिर के निकट स्थित गौशाला के सामने एक शरारती तत्व ने ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ लिख दिया था।

पुलिस ने इस मामले में टैक्नीकल जांच शुरू करते हुए पटियाला के गांव गुरदित्तपुर के रहने वाले मनजीत सिंह को ट्रेस किया। इसके बाद सीआईए स्टाफ की पुलिस ने मनजीत सिंह को करनाल से गिरμतार कर लिया है। वहीं पूछताछ में सामने आया है कि इससे पहले मनजीत सिंह करनाल के स्कूल व कॉलेज की दीवारों पर खालिस्तान जिंदाबाद लिख चुका है। पुलिस ने मनजीत से पूछताछ की तो उसने माना कि उसी ने जालंधर में ऐसा किया था। कमिश्नरेट पुलिस करनाल जेल में बंद मनजीत सिंह को प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई है। रिमांड पर लेकर मनजीत सिंह से पूछताछ की जा रही है। आरोपी ने कबूला कि इंटरनैट के माध्मय से उसे अमरीका से फोन आया था।

इसी दौैरान इस काम के लिए उसे डेढ़ लाख रुपए दिए गए थे। ऐसे में वह रात को ही बाइक के माध्यम से जालंधर पहुंचा था और अपना काम करने के बाद रातोंरात वापिस पटियाला चला गया था। आरोपी मंजीत ने बताया था कि इस काम में उसकी मदद रेशम सिंह ने की थी। रेशम सिंह बरनाला का रहने वाला है। उसे अमरीका के नंबर से इंटरनैट मीडिया के जरिए एक कॉल आई थी। कॉल करने वाले ने कहा था कि अगर वह उनके कहने पर उक्त नारे लिखेगा तो उसे डेढ़ लाख रु पए दिए जाएंगे। पुलिस को शक है कि काल करने वाला कोई और नहीं बल्कि सिख फॉर जस्टिस का गुरपतवंत सिंह पन्नू ही है। फिलहाल थाना 3 की पुलिस ने आरोपी मंजीत सिंह की गिरμतारी डालते हुए उसे डेढ़ लाख देकर यह काम करवाने वाले अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।