पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले सिरमौर से पहली गिरफ्तारी, शिक्षा विभाग के अधीक्षक अरेस्ट

Spread the News

हिमाचल प्रदेश पुलिस कांस्टेबल भर्ती पेपर लीक मामले में एसआईटी ने सिरमौर जिला से पहली गिरफ्तारी की है। नाहन विधानसभा क्षेत्र के कोलर गांव का आरोपी रमनदीप शिक्षा विभाग में ग्रेड दो अधीक्षक के पद पर तैनात है। इससे पहले 29 मई 2016 को हुई प्रदेश पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा में हाईटेक तरीके से नकल करवाने के मामले में भी इसी आरोपी का हाथ था। इस मामले का पर्दाफाश होने के बाद आधा दर्जन आरोपियों के साथ रमनदीप को मुख्य आरोपी तय किया गया था, जिन्होंने नाहन के दो परीक्षा केंद्रों में दो अभ्यर्थियों को ब्लूटूथ, स्पाई कैमरा व हेडफोन आदि की मदद से नकल करवाई थी।

इस बार भी बहुचर्चित पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में रमनदीप की संलिप्तता पाई गई है। पुलिस के अनुसार रमनदीप इस मामले से जुड़े अन्य लोगों के संपर्क में था और दो अभ्यर्थियों को प्रश्नपत्र दिखाने के लिए चंडीगढ़ ले जाया गया था। दोनों ही अभ्यर्थियों नेे लिखित परीक्षा में अच्छे अंक भी हासिल किए। फिलहाल, यह बात साफ नहीं हो पाई है कि आरोपी ने अभ्यर्थियों से इसकी एवज में कितने रुपये में सौदा किया था। प्रश्नपत्र लीक होने का मामला उजागर होते ही रमनदीप जैसे ही एसआईटी के निशाने पर आया तो वह भूमिगत हो गया था। करीब दो माह तक पुलिस ने रमनदीप पर निगरानी रखी और शुक्रवार देर रात को उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस अधीक्षक सिरमौर ओमापति जम्वाल ने आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि आरोपी को अदालत में पेश कर रिमांड मांगा जाएगा ताकि इस मामले में गहनता से पूछताछ की जा सके।