GST Rates: जनता पर महंगाई की मार! पैकेटबंद सामान पर अब लगेगा 18 फीसदी GST, जानें क्‍या हुआ सस्‍ता और क्‍या महंगा?

Spread the News

नई दिल्ली: जनता पर अब महंगाई का बोझ बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। पेट्रोल-डीजल और सिलेंडर के दामों के बाद अब आपको प्रोडक्ट्स और सर्विसेज पर भी ज्यादा जीएसटी चुकाना होगा। दरअसल जीएसटी कौंसिल द्वारा अपनी 47वीं बैठक में की गई सिफारिशों के अनुसरण में जीएसटी दर से संबंधित परिवर्तन आज यानि 18 जुलाई से लागू होने जा रहे हैं। इसके मुताबिक आपको कईं चीजें महंगी मिलेंगी तो वहीं सरकार द्वारा कई सामानों पर जीएसटी छूट को खत्म किया गया है। तो चलिए आपको बताते हैं कि आज से कौन सी चीजें आपकी जेब पर भारी पड़ेंगी।

यह सामान हुआ महंगा

1. पैकेज्ड एवं लेबल युक्त दही
2. लस्सी, पनीर, शहद, अनाज, मांस और मछली खरीदने पर 5 फीसद जीएसटी देना होगा।
3. अस्पताल में 5,000 रुपये (गैर-आईसीयू) से अधिक किराए वाले कमरे पर आपको 5 फीसद जीएसटी लगेगा।
4. चेक बुक जारी करने पर बैंकों की ओर लिए जाने वाले शुल्क पर 18 फीसद जीएसटी।
5. टेट्रा पैक पर दर 12 फीसद से बढ़कर 18 फीसद।
6. आटा चक्की, दाल मशीन पर 5 फीसद की जगह 18 फीसद जीएसटी।
7. अनाज छंटाई मशीन, डेयरी मशीन, फल-कृषि उत्पाद छंटाई मशीन, पानी के पंप, साइकिल पंप, सर्किट बोर्ड पर 12 फीसद की जगह 18 फीसद जीएसटी।
8. मैप, एटलस और ग्लोब पर 12 फीसद जीएसटी देना होगा।
9. होटल के 1,000 रुपये प्रति दिन से कम किराये वाले कमरे पर 12 फीसद जीएसटी।
10. प्रिंटिंग/राइटिंग या ड्रॉइंग इंक, एलईडी लाइट्स, एलईडी लैम्प पर 12 फीसद की जगह 18 फीसद जीएसटी।
11. ब्लेड, चाकू, पेंसिल शार्पनर, चम्मच, कांटे वाले चम्मच, स्किमर्स आदि पर 18 फीसद जीएसटी
12. नारियल पानी पर 12 फीसदी और फुटवेयर के कच्चे माल पर भी 12 फीसदी GST की नई दरें लागू होगी
13. एटलस समेत नक्शे और चार्ट पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा।
14. सौर वॉटर हीटर पर अब 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा
15. सड़क, पुल, रेलवे, मेट्रो, अपशिष्ट शोधन संयंत्र (Waste Treatment) और शवदाहगृह (Funeral Parlor) के लिये जारी होने वाले कॉन्‍ट्रैक्‍ट पर अब 18 प्रतिशत जीएसटी लगेगा. यह अबतक 12 प्रतिशत था।

यह हुआ सस्ता

1. उन ऑपरेटरों के लिए माल ढुलाई किराया पर जीएसटी 18 फीसद से कम होकर 12 फीसद की गई है।
2. वहीं अब डिफेंस फोर्सेज के लिए आयातित कुछ खास वस्तुओं पर आईजीएसटी नहीं लगेगा
3. स्प्लिंट्स और अन्य फ्रैक्चर उपकरण, शरीर के कृत्र्मि अंग, बॉडी इंप्लाट्स, इंट्रा ओक्यूलर लेंस आदि पर 12 फीसद की जगह 5 फीसद लगेगा
4. ट्रक, वस्तुओं की ढुलाई में यूज होने वाले वाहनों जिसमें ईंधन की लागत शामिल है पर अब 18 की बजाय 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा