वैज्ञानिकों की चेतावनी: पीठ के इस हिस्से में दर्द को न करें नजरअंदाज, वजह हो सकता है ओमीक्रोन

Spread the News

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी का खतरा अभी टला नहीं है। भारत सहित दुनिया के बहुत से देशों में कोरोना के नए मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। कोरोना के बढ़ते मामलों को चौथी लहर के रूप में देखा जा रहा है। इस बार सबसे ज्यादा तबाही ओमीक्रोन और उसके सब-वेरिएंट ने मचाई हुई है। बेशक ओमीक्रोन बहुत ज्यादा घातक नहीं है लेकिन इसमें तेजी से फैलने की क्षमता है। चिंता की बात यह है कि इसके लक्षण भी बहुत सी आम बीमारियों से मिलते-जुलते हैं। वर्ल्ड हैल्थ ऑर्गनाइजेशन ने नवंबर 2021 में वेरिएंट ऑफ कंसर्न मान लिया था। ओमीक्रोन को सामने आए 7 महीने से अधिक समय बीत चुका है और मौजूदा समय में यह दुनिया के कई हिस्सों में हावी है। समय के साथ ओमीक्रोन के कई सब-वेरिएंट भी सामने आ रहे हैं। यही वजह है कि इसके लक्षणों में तेजी से बदलाव हो रहे हैं। विशेषज्ञों ने ओमीक्रोन के एक अजीब लक्षण की पहचान की है। चिंता की बात यह है कि यह लक्षण कई आम बीमारियों से मिलता-जुलता है।

पीठ दर्द को न करें नजरअंदाज

सिम्पटम्स स्टडी के अनुसार, पीठ दर्द ओमीक्रोन के 20 मुख्य लक्षणों में से एक है। ऐप के प्रमुख प्रो। टिम स्पेक्टर का दावा है कि ओमीक्रोन वाले पांच में से एक व्यक्ति को पीठ दर्द होता है। इसके मुख्य कारण का पता नहीं चला है लेकिन माना जाता है कि दर्द हल्का और गंभीर हो सकता है।

पीठ के निचले हिस्से में हो सकता है दर्द

डेटा से पता चलता है कि जिन लोगों को ओमीक्रोन होता है, उनमें गले में खराश, नाक बंद होना, खांसी और मांसपेशियों में दर्द जैसे लक्षण सबसे ज्यादा देखने को मिलते हैं। उन्हें विशेष रूप से पीठ के निचले हिस्से में दर्द होता है। मरीजों का मानना है कि यह दर्द गंभीर हो सकता है।

कैसे पता चलेगा की पीठ दर्द की वजह ओमीक्रोन है

पीठ दर्द कई वजहों से हो सकता है इसलिए इसकी पहचान करना मुश्किल है। विशेषज्ञ मानते हैं कि ओमीक्रोन के लक्षणों में गले में
खराश, खांसी, बुखार, नाक बहना, छींक, थकान और श्वसन संबंधी आदि शामिल हैं। इन लक्षणों के साथ अगर आपको पीठ के निचले हिस्से में गंभीर दर्द महसूस हो रहा है, तो आपको समझ लेना चाहिए कि आपको ओमीक्रोन हो गया है।

कोविड टैस्ट जरूर कराएं

अगर आपको पीठ में दर्द की शिकयात है और इसके साथ ऊपर बताए लक्षण भी हैं, तो आपको बिना देरी किए कोरोना की जांच करानी चाहिए। आप जल्दी रिजल्ट चाहते हैं, तो रैपिड एंटीजन टैस्ट करा सकते हैं।