हरिद्वार: गंगा में डूबते 7 कांवड़ियों के लिए जल पुलिस बनी ‘देवदूत’, रेस्क्यू कर बचाई जान

Spread the News

हरिद्वार: धर्मनगरी हरिद्वार में गंगा नदी में तेज बहाव के चलते 7 कांवड़िए बह गए, जिनको जल पुलिस और एसपीओ ने रेस्क्यू कर बचाया। हरिद्वार में गंगा घाटों पर तैनात जल पुलिस और एसपीओ द्वारा कांवड़ियों पर पैनी नजर रखी जा रही है। और अप्रिय घटना होने पर मुस्तैदी से कार्य कर जीवनदान दिया जा रहा है।

बता दें, कांवड़ के सीजन में हरकी पैड़ी ब्रह्मकुंड से लेकर हरिद्वार में गंगा के तमाम घाटों पर कांवड़ियों का रेला उमड़ता है। ऐसे में कई बार कांवड़िए अपनी लापरवाही से गंगा की तेज धारा में बह जाते हैं, जिनको मौके पर तैनात जल पुलिस और एसपीओ द्वारा बचाया जाता है।

बीते सालों में कांवड़ के दौरान गंगा में नहाते समय डूब कर होने वाली कांवड़ियों की मौत पर लगाम लगाने के लिए इस बार पुलिस ने गंगा घाटों पर जल पुलिस की व्यापक स्तर पर तैनाती की है। 100 से अधिक सरकारी व निजी गोताखोरों को डूबते कांवड़ियों को बचाने के लिए लगाया गया है।

गंगा घाटों पर ऐसे युवाओं की भी कमी नहीं है, जो अपनी रोजी-रोटी गंगा से ही चलाते हैं। यह युवक तैराकी में निपुण होते हैं और सामान्य दिनों में यह गंगा में पैसे आदि ढूंढ कर अपना गुजर-बसर करते हैं। पुलिस ने इस बार तैराकी में दक्ष ऐसे गंगा में पैसे ढूंढने वालों को एसपीओ (स्पेशल पुलिस आॅफिसर) बनाकर उन्हीं गंगा घाटों पर तैनात किया है, जिन घाटों का इन युवकों को पूरा अनुभव है।