पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को दी विदाई, भव्य समारोह में जानें कब-कब क्या-क्या हुआ ?

Spread the News

नई दिल्ली (विनय राणा) : बदलाव प्रकृति का नियम है, जब एक कार्यकाल समाप्त होता है, तो एक प्रारम्भ होता है। कुछ इसी तरह का दृश्य था, राष्ट्रपति भवन का, जिसके प्रांगण में एक भव्य समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह में जहां नई राष्ट्रपति मैडम द्रोपदी मुर्मू का राष्ट्रपति भवन में आगमन होना था और पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने यहां प्रस्थान कर अपने नए आवास के लिए रवाना होना था।

पहला दृश्य: सफेद दीवारों पर सुनहरी फ्रेम की पट्टियां और फूलों वाले कालीन बिछे राष्ट्रपति भवन के भव्य कक्ष कमिटी रूम कावेरी में ऑफ वाईट बंद गले के सूट में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और हरे-लाल रंग किनारी वाली सफेद साड़ी में मैडम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू एक साथ आए और मैडम राष्ट्रपति को पूर्व राष्ट्रपति ने कुर्सी पर बैठाया। इसी दौरान उन्होंने कुर्सी की बाईं ओर खड़े होकर ऐतिहासिक तस्वीरें खिंचवाई, जिसे छोटा सा फोटो शूट कहा जा सकता है। इसके बाद मैडम राष्ट्रपति अपनी चेयर पर बैठी रहीं और पूर्व राष्ट्रपति सामने लगे काउच पर बैठ गए, कुछ तस्वीरें और उतारी गईं। इसके बाद दृश्य बदला।

दूसरा दृश्य: राष्ट्रपति भवन के बहरी हिस्से में, गार्ड-आफ-ऑनर के तैयार आंतरिक सुरक्षा गार्ड की टुकड़ियां, इनके पीछे की ओर सुन्दर फव्वारों के बीच तनकर खड़ा हुआ 145 फुट ऊँचा जयपुर कॉलम यानि जयपुर स्तम्भ। आंतरिक सुरक्षा गार्ड की टुकड़ियां मैडम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू को सलामी देने के इंतज़ार में, तैयार-बर-तैयार इनके बिलकुल सामने राष्ट्रपति भवन की भव्य इमारत की सीढ़यों से सटे हुए दो सफेद, लेकिन शानदार शामियाने लगे हुए थे। जिनके नीचे सामने वाली कतार में देश की तीनों सेनाओं थल सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे, वायु सेना प्रमुख बीआर चौधरी एवं जल सेना प्रमुख एडमिरल आर हरी कुमार बैठे हुए थे, साथ ही में कुछ खास-खास लोग जिन्हें वीवीआईपी की संज्ञा दी जाती है, विराजमान थे। इसके बिलकुल साथ लगे ऐसे ही दूसरे शामियाने की पहली कतार में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रिय सुरक्षा सलाहकार अजित डोबाल बैठे हुए थे। यह सभी लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन की प्रतीक्षा कर रहे थे।

तीसरा दृश्य: राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री के काफिले की गाड़ियों का प्रवेश शरू हुआ, 14 काले रंग की इन गाड़ियों में से ही एक में प्रधानमंत्री सवार थे। काफिले की गाड़ियां कुछ पीछे ही रुक गईं, सिर्फ एक कार ही धीर-धीरे आगे आई, जिसमें से सफेद कुर्ता और चूड़ीदार के साथ आसमानी रंग की वाइस कोट पहने हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उतरे, हाथ जोड़कर उपस्थित आतिथियों का अभिनंदन करते हुए आगे बढ़े और अपना स्थान ग्रहण किया। इसके तुरंत बाद ही उप-राष्ट्रपति एवं राज्य सभा अध्यक्ष एम.वेंक्या नायडू वहां पहुंचे, प्रधानमंत्री ने उठकर इनका अभिनंदन किया। अब प्रतीक्षा थी आज के समारोह के मुख्य आकर्षण की, देश की दूसरी और पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति के आगमन का।

चौथा दृश्य : देश की 15वीं राष्ट्रपति मैडम द्रोपदी मुर्मू भवन के नॉर्थ कोर्ट से काले रंग की लंबी कार में सवार होकर समारोह स्थल के लिए रवाना हुईं। आज का दिन पूरे देश के साथ-साथ विशेष तौर पर झारखंड राज्य के लिए खास दिन था, जहां मैडम मुर्मू के चुने जाने पर सबसे अधिक जश्न मनाया गया। कुछ ही देर में राष्ट्रपति मैडम समारोह स्थल पर पहुंचीं, जहां सभी ने खड़े होकर उनका अभिनंदन किया।

मैडम राष्ट्रपति ने शानदार लाल रंग से सजे छोटे से मंच पर खड़े होकर राष्ट्र ध्वज को सेल्यूट किया और आंतरिक सुरक्षा गार्ड की टुकड़ियों ने उन्हें को गार्ड-आफ-ऑनर पेश किया, साथ में बैंड पर राष्ट्र गान की धुन बजाई।

पांचवां दृश्य: मैडम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने इसके बाद खुली जीप में सवार होकर आंतरिक सुरक्षा गार्ड का निरीक्षण किया, हरे रंग की इस खुली जीप को विशेष तौर पर लाल मैट बिछाकर और निकलड पाईप फिटिंग से तैयार किया गया था, जीप धीरे-धीरे आगे बढ़ती गई और मैडम आंतरिक सुरक्षा गार्ड इन तीनों टुकड़ियों का निरिक्षण करती गईं।

मैडम प्रेसीडेंट इसके बाद काली कार पर सवार होकर भवन के नॉर्थ कोर्ट की तरफ रवाना हो गईं।

छठा दृश्य : अगला दृश्य भी राष्ट्रपति भवन के नॉर्थ कोर्ट का ही था, जहां पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद की पत्नी सविता कोविंद का भवन से प्रस्थान हुआ, वह काले रंग की वैसी ही लम्बी कार में सवार होकर समारोह स्थल के लिए निकलीं, कुछ ही देर में वहां पहुंचीं तो सभी ने उनका खड़े होकर स्वागत किया और उन्होंने अपना स्थान ग्रहण किया।

सातवां दृश्य : अगली गतिविधि भी राष्ट्रपति भवन के नॉर्थ कोर्ट से ही शुरू हुई, पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और मौजूदा राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू एक साथ काली कार में सवार होकर समारोह स्थल के लिए निकले, जैसे ही वहां पहुंचे सभी ने गर्मजोशी से दोनों का स्वागत किया।

इसके बाद पूर्व राष्ट्रपति को विदाई से पहले गार्ड-आफ-ऑनर पेश किया। फिर से पूरे भवन में बैंड पर राष्ट्र गान की धुन गूंज गई। पूर्व राष्ट्रपति से गार्ड कमांडर ने निरीक्षण का निवेदन किया और वह खुली जीप पर सवार हो गए। बैंड पर धुन बजती रही और पूर्व राष्ट्रपति ने आंतरिक सुरक्षा गार्ड का निरीक्षण किया और बाद में उन सभी नेताओं का धन्यवाद किया, जिन्होने उनके कार्यकाल के दौरान उनका पूर्ण सहयोह किया। बहुत ही भाविक पल था, पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधान मंत्री और उप-राष्ट्रपति से कुछ देर बात करते रहे, इसके बाद उनकी राष्ट्रपति भवन से उनके नए निवास 12 जनपथ के लिए परिवार सहित औपचारिक विदाई हुई। तीन गाड़ियों का काफिला चला, जयपुर स्तम्भ के सामने रुका और यहां से इस काफिले की अगुवानी घुड़सवार गार्ड्स ने की।