Hariyali Amavasya: आज है हरियाली अमावस्या, आज के दिन ना करें ये कुछ कार्य

Spread the News

हर साल सावन माह के महीने में हरियाली अमावस्या आती है। इस बार हरियाली अमावस्या 28 जुलाई को यानि रही है। आज का दिन बहुत ही शुभ माना जाता है। मान्यता है की आज के दिन किए गए स्नान-दान और पूजा-पाठ से देवी-देवताओं के साथ पितरों का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है। आज के दिन कुछ कार्य करना बहुत ही शुभ माना जाता। लेकिन इसी के साथ साथ कुछ कार्य ऐसे भी होते है जिन्हें करने से हमें नुकसान भी हो सकता है। तो आइए जानते है वह कार्य जो हमे हरियाली अमावस्या के दिन नहीं करने चाहिए।

हरियाली अमावस्या के दिन क्या न करें
1. हरियाली अमावस्या का दिन पेड़ पौधों की सेवा करने और नए पौधों को लगाने अवसर है. ऐसा करने से ग्रह दोष और पितृ दोष दूर होता है. इस दिन आपको पेड़-पौधों को हानि नहीं पहुंचानी चाहिए. यदि आप ऐसा करते हैं, तो ग्रह दोष या पितृ दोष का भागी बन सकते हैं.

2. हरियाली अमावस्या के अवसर पर पितरों की आत्म तृप्ति के लिए तर्पण, पिंडदान, श्राद्ध कर्म आदि करते हैं. इस दिन ध्यान रखना चाहिए कि आपके किसी कार्य से आपके पितर नाराज न हों. पितरों के नाराज होने से आप उनके श्राप के भागी बनते हैं. इसके परिणामस्वरूप कार्यों में असफलता, धन हानि, आर्थिक संकट, वंश से जुड़ी समस्याएं आदि हो सकती हैं.

3. अमावस्या के दिन कुत्ते, गाय, कौआ आदि को न मारें या किसी भी प्रकार से हानि नहीं पहुंचाएं. विशेषकर तब, जब वे भोजन कर रहे हों या आपके घर से उनको अन्न प्राप्त हुआ हो. माना जाता है कि अमावस्या के दिन कुत्ता, गाय या कौआ को भोजन खिलाने से पितरों को वह अंश प्राप्त होता है, जिससे वे खुश होते हैं. यदि आप इन पशु पक्षियों को मारते हैं या हानि पहुंचाते हैं, तो आपके पितर आप से नाराज हो सकते हैं.

4. अमावस्या के दिन अपने घर भिक्षा मांगने आने वालों को खाली हाथ न लौटाएं. उनको दान स्वरूप अन्न, वस्त्र या जो भी आपकी क्षमता है, उस अनुसार दान कर दें. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, ये दान पितरों को प्राप्त होता है.

5. अमावस्या को अपने घर के बड़े-बुजुर्गों का अपमान न करें या कोई ऐसी बात या कार्य न करें, जिससे उनकी आत्मा दुखी हो.