Monkeypox Guidelines: 21 दिन आइसोलेशन और ट्रिपल लेयर मास्क, मंकीपॉक्स से बचाव के लिए सरकार ने जारी किए दिशा-निर्देश

Spread the News

नई दिल्ली: मंकीपॉक्स के प्रकोप से अब तक लगभग 75 देशों में 16,000 से अधिक संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं और इस वायरस की वजह से पांच लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि इस प्रकोप को रोका जा सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यू.एच.ओ.) के एक अधिकारी ने यह बात कही है।

डब्ल्यू.एच.ओ. द्वारा संक्रमण को अंतर्राष्ट्रीय चिंता के रूप में सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल (पीए.च.ई.आई.सी.) घोषित किया जा चुका है। यह वैश्विक स्वास्थ्य निकाय द्वारा सार्वजनिक स्वास्थ्य चेतावनी का उच्चतम स्तर है। मंकीपॉक्स पर टैक्नीकल लीड डा. रोसमंड लेविस ने ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में कहा, इस अलर्ट का कारण यह है कि हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हम जल्द से जल्द इस प्रकोप को रोक सकें।

बचाव के लिए सरकार ने जारी की गाइडलाइन

मंकीपॉक्स रोगियों और उनके संपर्क में आए लोगों के लिए सरकार ने दिशानिर्देश जारी किए हैं, जो कुछ इस तरह हैं…

1. मंकीपॉक्स रोगियों को 21 दिन तक आइसोलेशन में रहना होगा। साथ ही उनके लिए मास्क पहनना, हाथ साफ रखना, घावों को पूरी तरह से ढककर रखना जरूरी है। जब तक घाव भर ना जाए और पपड़ी गिर ना जाए, मरीजों को बाहर नहीं आना चाहिए।
2. दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि जो स्वास्थ्यकर्मी, संक्रमित मरीज व अन्य लोगों को ट्रिपल लेयर मास्क पहनना चाहिए।
3. त्वचा के घावों को जीतना हो सके ढककर रखना चाहिए, ताकि स्वस्थ लोगों के वायरस संपर्क में आने का जोखिम कम हो सके।
4. संक्रमित मरीजों को हाथों की स्वच्छता और सामाजिक दूरी जैसे नियमों का पालन करना चाहिए।
5. मरीज के छुए हुए कपड़े, बिस्तर, बर्तन, तौलिए आदि हर सामान को दूर रखें। साथ ही मरीज की देखभाल करते समय PPE किट पहनना ना भूलें।