UP : मुख्यमंत्री योगी को ‘तुलसीदास’ की जन्मभूमि निर्धारित करने का अधिकार नहीं : शरद पांडे

Spread the News

कासगंज (उत्तर प्रदेश) : ब्राह्मण कल्याण सभा के अध्यक्ष शरद पांडे ने कहा कि ‘‘मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गोस्वामी तुलसीदास की जन्मभूमि निर्धारित करने का कोई अधिकार नहीं है। संत का जन्म सोरों में गंगा के घाटों के पास हुआ था और बाद में राजापुर चले गए। हमारे पास ऐतिहासिक और धार्मिक प्रमाण हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यालय के एक ट्वीट में कहा गया था कि 15वीं शताब्दी के संत और कवि तुलसीदास का जन्म ‘चित्रकूट जिले के राजापुर उपमंडल में हुआ था।

इस ट्वीट पर स्थानीय निवासियों के एक समूह ने आपत्ति जताते हुए कासगंज की जिलाधिकारी हर्षिता माथुर को ज्ञापन सौंपा है। उन्होंने राज्य सरकार को ‘ट्वीट’ नहीं हटाए जाने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू करने की चेतावनी भी दी। निवासियों ने आदित्यनाथ को संबोधित पत्र में कहा है कि ‘राम चरितमानस’ के लेखक कासगंज जिले के सोरों ब्लॉक में पैदा हुए थे और बांदा जिले के गजेटियर में इसका स्पष्ट उल्लेख है।