सज्जाद गनी लोन ने कहा, कश्मीरी युवाओं के हितों की रक्षा राज्य की सबसे बड़ी नेतृत्व चुनौती

Spread the News

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद गनी लोन ने कहा कि लोगों के हितों की रक्षा करना विशेष रुप से राज्य के युवाओं की सुरक्षा वर्तमान समय में सबसे बड़ी नेतृत्व चुनौती है। पार्टी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि लोन ने श्रीनगर में अपने मुख्यालय में सोपोर के प्रमुख कार्यकर्ताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बातचीत के दौरान यह बात कही।

उन्होंने कहा, ‘‘यह जरुरी है कि हम परिभाषित करें कि कश्मीर में नेतृत्व क्या होता है। आज कश्मीर में नेतृत्व का क्या मतलब है? हम दृढ़ता से मानते हैं कि नेतृत्व का अर्थ है इस अवसर पर उठना और भूखे शेरों को खिलाने के बजाय कश्मीरियों को बचाना। कश्मीर में प्री-स्क्रिप्टेड थिएटरों में परफॉर्म करने की लग्जरी अब खत्म हो गई है। अब समय आ गया है कि नेतृत्व अपनी नींद से उठे और समझें कि नेतृत्व जो भी शब्द बोलता है उसका कश्मीर के लोगों के लिए परिणाम होता है।’’

लोन ने जम्मू कश्मीर के लोगों का दूरदर्शी, दृढ़ रहने और जम्मू कश्मीर को अनिश्चितता के वर्तमान चक्र से बाहर निकालने का संकल्प लेने का आह्वान किया। उन्होंने कहा,‘‘यह वर्तमान समय के कड़े आदेशों से घबराने का समय नहीं है। यह एक लंबा खेल है। अगर हम राज्य के लोगों के लिए कुछ हासिल करना चाहते हैं तो नेतृत्व को धैर्य रखना होगा। पीपुल्स कांफ्रेंस वह पार्टी है जिसके पास बलिदानों की विरासत है। हम लोगों को एक सम्मानजनक जीवन जीने का प्रयास करना जारी रखेंगे और एक आम कश्मीरी को पीड़ति होने से बचाने के लिए अपनी शक्ति में सब कुछ करेंगे।’’