शिक्षा सहित कई क्षेत्रों में महिलाएं दर्ज करवा रही उपस्थिति: राज्यपाल

Spread the News

कैथल: राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि तीज त्यौहार हमारी संस्कृति की विरासत है जिन्हें सहेजकर रखना हम सबकी सांझी जिम्मेदारी है। तीज त्यौहार महिला सशक्तिकरण को भी बढ़ावा देते हैं। त्यौहार हमारी संस्कृति का मजबूत आधार है। सामाजिक और नैतिक मूल्यों को प्रदिर्शत और परिभाषित करते ऐसे त्यौहारों से हमें समाज सेवा और राष्ट्र भिक्त के साथसाथ महिला सशक्तिकरण की सीख लेकर सेवा और समर्पण के कार्य को आगे बढ़ाने की जरूरत है। वह शुक्र वार को अमृत फार्म में हरियाली तीज महोत्सव के उपलक्ष में आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्र म में बतौर मुख्यातिथि उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे।

राज्यपाल ने कहा कि देश के समूचित संर्वधन में महिलाओं का विशेष योगदान है। हमें ना तो महिलाओं पर अत्याचार करने चाहिए और ना ही होने देने चाहिए। महिला सशक्तिकरण बदलते परिवेश में अति आवश्यक है। राज्यपाल ने कहा कि हमारे जीवन में त्यौहारों का विशेष महत्व है। वर्षभर में एक नीयत समय पर आने वाले विभिन्न त्यौहार जीवन में नवरस भर देते हैं। रक्षाबन्धन से लेकर दीवाली और होली तक स•ाी त्यौहार न केवल अलग-अलग ढंग से मनाए जाते हैं बल्किजीवन पर उनका अनुकूल प्रभाव भी पड़ता है। तीज उन्हीं त्यौहारों में से एक ऐसा महत्वपूर्ण त्यौहार है, जिससे महिलाएं ही नही बल्कि पुरुषों के चेहरे भी खिल जाते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे हरियाणा में एक कहावत है कि ‘आई तीज, बिखेर गई बीज’ अर्थात अप्रैल माह में शुरू होने वाले हमारे हिन्दू कैलेंडर में तीज का त्यौहार वर्ष का सबसे पहला त्यौहार होता है।

इसके बाद से त्यौहारों का सीजन शुरू हो जाता है। इसके 10 दिन बाद रक्षाबंधन, फिर जन्माष्टमी, करवे, नवरात्र, दशहरा, दीवाली इत्यादि महत्वपूर्ण पर्व हैं। राज्यपाल ने बाल कल्याण परिषद को 10 लाख रु पए देने की घोषणा की। राज्यपाल ने कार्यक्र म परिसर में पौधा रोपण करके पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया तथा कहा कि हमें शुभ मंगल कार्यों पर भी पौधा रोपण अवश्य करना चाहिए। उन्होंने कार्यक्र म स्थल पर धरोहर स्टॉलों का भी भरमण किया। राज्यपाल ने कार्यक्र म स्थल पर जाकर चटनी व आचार का स्वाद चखा। राज्यपाल ने कार्यक्र म स्थल पर लगाए झूला भी झूला। उन्होंने प्रदर्शनी का विधिवत रूप से रीबन काटकर उद्घाटन भी किया। कार्यक्र म स्थल पर लगाए गए रक्तदान शिविर में रक्तदाओं को आशीर्वाद दिया और बैज लगाए तथा कहा कि रक्तदान बहुत जरूरी है।

इस मौके पर मानद महा सचिव रंजीता मेहत्ता ने राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। विभिन्न स्कूल के बच्चों ने हरियाणवी संस्कृति से ओत-प्रोत सांस्कृतिक कार्यक्र म प्रस्तुत किए। राज्यपाल ने विधायक लीला राम, डीसी डॉ. संगीता तेतरवाल, एसपी मकसूद अहमद, एडीसी विरेंद्र सहरावत, सीटीएम गुलजार अहमद, चेयरपर्सन सुर•िा गर्ग, सुमन नायब सैनी, निर्मला बैरागी, अनिता चौधरी, जैली बंसल, डॉ. दीपिका, बलबीर चौहान सहित निर्णायक मंडल में शामिल स•ाी जजों के साथ-साथ बच्चों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।