लॉरेंस बिश्नोई गैंग के 5 खूंखार Gangster गिरफ्तार, भारी मात्रा में गोली-सिक्का बरामद: DIG Gurpreet Bhullar

Spread the News

चंडीगढ़: फतेहगढ़ साहिब पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई गैंग के 5 खूंखार गैंगस्टरों को गिरफ्तार करके 8 नाजायज हथियारों सहित 30 कारतूस बरामद किए हैं। यह जानकारी डीआईजी एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स और रूपनगर रेंज गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने बताया कि सरहिंद और खमाणों पुलिस की टीमों ने सांझी कार्रवाई करते हुए इस अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया है। उन्होंने बताया कि गिरोह के सरगना की पहचान सन्दीप संधू निवासी सबेलपुर थाना घग्गा, पटियाला के तौर पर हुई है। इन गैंगस्टर के खि़लाफ़ पहले ही धारा 302, 307, 392, 397-बी, 341, 323, 427, 502, 25 हथियार एक्ट और 61/1/14 आबकारी एक्ट के अंतर्गत 4 एफआईआर. पटियाला और फतेहगढ़ साहिब जिलों के थानों में दर्ज की गई हैं।

डीआईजी ने बताया कि सन्दीप संधू पटियाला जेल में बंद गैंगस्टर गुरप्रीत सिंह उर्फ बूटा सिंह वाला का साथी है और यह दोनों लॉरेंस बिश्नोई गैंग के सक्रिय मैंबर हैं। उन्होंने कहा कि गुरी पर मुकाबले में मारे गए गैंगस्टर अंकित भादू के साथ एक कत्ल का भी दोष है। सन्दीप संधू उत्तर प्रदेश के सप्लायर से हथियार ख़रीदता था, जिसका पता लगाया जा रहा है।

एसएसपी रवजोत कौर ने इस दौरान बताया कि सन्दीप संधू, इरादतन कत्ल और कत्ल के मामलों में वांछिता था, जिसे हरप्रीत सिंह, सन्दीप सिंह फलोली, चरनजीत सिंह और गुरमुख सिंह के साथ गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से कुल 8 नाजायज हथियार, जिनमें 5.32 बोर की देसी पिस्तौल (कट्टे) और तीन 315 बोर की देसी पिस्तौल (कट्टे) सहित 30 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं।

रवजोत कौर ने बताया कि देश के अलग-अलग राज्यों की तरफ से इस गिरोह को हथियार हथियार मुहैया करवाए जाते थे, पुलिस की तरफ से इस गिरोह से जुड़ी हर कड़ी की पड़ताल की जा रही है।