Nag Panchami: आज नाग पंचमी पर बन रहा है अद्भुत संयोग, माता पार्वती जी की पूजा का भी मिलेगा विशेष लाभ

Spread the News

आज नाग पंचमी का पर्व पुरे देश में मनाया जा रहा है। आज के दिन नाग देवता जी की पूजा की जाती है और उन्हें दूध चढ़ाया जाता है। माना जाता है के ऐसा करने से परिवार के किसी सदस्य को सांपों से कोई हानि नहीं पहुंचती। क्या आप जानते है की नाग पंचमी की कथा में उस घटना का वर्णन है, जिसमें नागों के जीवन पर संकट छा गया था, तब सावन शुक्ल पंचमी को ब्रह्म देव के आशीर्वाद से उस संकट का समाधान मिला। आइए जानते है इस कथा के बारे में:

शुभ मुहूर्त
पंचमी तिथि प्रारम्भ अगस्त 02, 2022 को सुबह 05:13 बजे, पंचमी तिथि समाप्त अगस्त 03, 2022 को सुबह 05:41 बजे. नाग पंचमी पूजा मूहूर्त सुबह के 05:43 से सुबह 08:25 बजे तक. 02 घण्टे 42 मिनट तक अवधि रहेगी.

बन रहे हैं ये अद्भुत संयोग
नाग पंचमी के दिन शिव योग और सिद्धि योग बन रहे हैं. शिव योग शाम 06 बजकर 38 मिनट तक रहेगा और उसके बाद सिद्धि योग शुरू होगा. इन दोनों ही योग में पूजा करने से शिव जी और नाग देवता की विशेष कृपा प्राप्त होगी व हर मनोकामना पूरी होगी. इसके अलावा इस साल नाग पंचमी के दिन मंगला गौरी का व्रत भी पड़ रहा है. ऐसे में भगवान शिव और माता पार्वती के साथ नाग देवता की पूजा करना काफी लाभकारी होगी.

ऐसे करें पूजा
नाग पंचमी के दिन नाग कुल के सभी नागों के प्रति श्रद्धा व्यक्त करनी चाहिए व नाग देवता को दूध, सफेद फूल अर्पित करना चाहिए. इसके साथ ही ‘ऊं कुरुकुल्ये हुं फट् स्वाहा’ मंत्र का जाप करना चाहिए. इस दिन इस मंत्र का जाप करना काफी लाभदायक माना जाता है. मान्यता है कि पूजा के दौरान इस मंत्र का जाप करने से काल सर्प दोष से मुक्ति मिल जाती है. ध्यान रहे कि नाग पंचमी के दिन जीवित सांप को दूध न पिलाएं, क्योंकि वह दूध उनके लिए जहर बन जाता है.