CEO Karuna Raju ने की पंजाब Photo Voter List के विशेष सारांश संशोधन की शुरुआत, राजनीतिक दलों से की चर्चा

Spread the News

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. करुणा राजू ने फोटो मतदाता सूची के विशेष सारांश संशोधन की शुरुआत के साथ राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर उन्हें अवगत कराया कि लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम-1950 की धारा-14 में संशोधन और निर्वाचक पंजीकरण नियम-1960 में संबंधित परिवर्तनों के परिणाम में चार योग्यता तिथियों 1 जनवरी, 1 अप्रैल, 1 जुलाई और 1 अक्टूबर का प्रावधान 1 अगस्त 2022 से पेश किया गया है।

डॉ. करुणा राजू और अतिरिक्त सीईओ पंजाब बी-श्रीनिवासन ने राजनीतिक प्रतिनिधियों को सूचित किया कि स्वैच्छिक आधार पर पंजीकृत मतदाताओं के आधार संख्या एकत्र करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। आधार कार्ड नंबरों के स्वैच्छिक संग्रह के उद्देश्य से फॉर्म 6-बी पेश किया गया है। मतदाता ऑनलाइन/ऑफलाइन मोड के माध्यम से फॉर्म जमा कर सकते हैं।

डॉ राजू ने कहा कि अगली संशोधन प्रक्रिया 4 अगस्त से 24 अक्टूबर, 2022 की अवधि के बीच होगी, जिसमें मतदान केंद्रों का युक्तिकरण/पुनर्व्यवस्था और जनसांख्यिकीय समान प्रविष्टियों (डीएसई) में त्रुटियां को दूर करना शामिल होगा। उन्होंने कहा कि पुनरीक्षण गतिविधियां 9 नवंबर से 8 दिसंबर 2022 के बीच की जाएंगी और नागरिकों को इस अवधि दौरान दावा और आपत्ति दर्ज करने का मौका भी मिलेगा। इस बैठक में भाग लेने वाले राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों में तृणमूल कांग्रेस के मंजीत सिंह एवं भूपिंदर सिंह, भाजपा के एनके वर्मा, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के मोहिंदर पाल सिंह और शिरोमणि अकाली दल से चरणजीत सिंह बराड़ शामिल रहे।