‘नेशनल हेराल्ड’ मामले में ‘Young India’ कार्यालय की ED ने फिर ली तलाशी, मल्लिकार्जुन खड़गे भी किए तलब

Spread the News

नई दिल्ली: मनी लांडरिंग मामलों की जांच करने वाली केन्द्रीय एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने ‘नेशनल हेराल्ड’ मामले की जांच अधीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नियंत्रण वाली कंपनी ‘यंग इंडिया लिमिटेड’ के दिल्ली स्थित कार्यालय की गुरुवार को दोबारा तलाशी ली। इस दौरान वहां कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को भी तलब किया गया था।

इससे पहले एजेंसी ने नई दिल्ली के बहादुर शाह जफर मार्ग स्थित ‘हेराल्ड हाउस’ स्थित ‘यंग इंडिया’ के दफ्तर को सील कर उसपर नोटिस चस्पा कर लोगों का प्रवेश रोक दिया था। सील करने की कार्रवाई से पहले ईडी ने ‘हेराल्ड हाउस’ और ‘हेराल्ड’ समाचार पत्र समूह के देशभर में फैले ठिकानों की तलाशी ली थी। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ईडी की इस कार्रवाई की आलोचना की और कहा कि इसके जरिए उनकी पार्टी को डराने का प्रयास किया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि नेशनल हेराल्ड मनी लांड्रिग मामले में ईडी राहुल गांधी और सोनिया गांधी से कई दौर की पूछताछ कर चुकी है। यह मामला हेराल्ड समाचार पत्र समूह की संपत्ति को फर्जी सौदों का जाल बुनकर ‘यंग इंडिया’ कंपनी को मात्र 50 लाख रुपये में सुपुर्द करने से जुड़ा है। भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की शिकायत पर इस मामले की जांच शुरू हुई। सोनिया गांधी एवं उनके सुपुत्र राहुल ने पहले ही निचली अदालत से जमानत ले ली थी। यंग इंडिया लिमिटेड में कांग्रेस के दोनों शीर्ष नेता 38-38 प्रतिशत के भागीदार हैं। कंपनी के दो शेयरधारक मोतीलाल बोरा और आस्कर फर्नाडीज का निधन हो चुका है।