5 सर्कलों में 136 करोड़ की लागत से 33 KV के 25 नए sub-stations बनेंगे

Spread the News

ऊर्जा मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि दक्षिणी हरियाणा बिजली वितरण निगम के अंतर्गत आने वाले विभिन्न 5 सर्कलों में 33 केवी के 25 नए सब-स्टेशनों का निर्माण करवाया जाएगा। इस पर 136 करोड़ रुपए की धनराशि खर्च की जाएगी। वे शुक्रवार को स्थानीय लेमिंगो स्थित सभागार में डीएचबीवीएन के अंतर्गत आने वाले विभिन्न 11 सर्कलों के एसई एवं विभिन्न एजेंसियों के प्रतिनिधियों की बैठक ले रहे थे। बैठक में निदेशक नीरज आहूजा, मुख्य अभियंता रजनीश गर्ग (हिसार जोन), मुख्य अभियंता नवीन वर्मा (दिल्ली जोन) सहित विभिन्न अधीक्षण अभियंता उपस्थित थे।

ऊर्जा मंत्री ने बताया कि 5 सर्कलों में हिसार सर्कल के 4, फतेहाबाद सर्कल के 8, सिरसा व रेवाड़ी के 4-4, तथा नारनौल सर्कल के 5 सब-स्टेशन शामिल हैं। उन्होंने निर्माणाधीन 33 केवी सब-स्टेशनों की प्रगति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्माण कार्य निर्धारित समय सीमा में पूरा करवाने की हिदायत दी। ऊर्जा मंत्री ने बताया कि 11 सर्कलों में 33-केवी के 52 सब स्टेशनों की क्षमता में बढ़ोतरी की जाएगी। इस पर 71 करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि खर्च होगी। उन्होंने बिजली निगम के अधिकारियों एवं एजेंसियों के प्रतिनिधियों को नए ट्यूबवैल कनेक्शन देने एवं 33 केवी सब-स्टेशनों के निर्माण तथा क्षमता में बढ़ोतरी संबंधी कार्य को निर्धारित समयावधि में पूरा करने के निर्देश दिए।

संबंधित कार्यों को गंभीरता से न लेने वाले अधिकारियों एवं एजेंसी प्रतिनिधियों के विरुद्घ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने 33 केवी सब-एएस्टेशनों की क्षमता में वृद्धि की समीक्षा करते हुए बताया कि डीएचबीवीएन सर्कल पलवल के 3, जींद के 12, हिसार के 8, सिरसा के 10, फतेहाबाद के 7, नारनौल के 5, भिवानी के 5 तथा गुरुग्राम व रेवाड़ी के एक-एक सब-स्टेशन शामिल हैं। उन्होंने कहा कि नए ट्यूबवैल कनेक्शन देने की प्रक्रिया में तेजी लाने के साथ-साथ सब स्टेशनों का निर्माण एवं क्षमता की बढ़ोतरी संबंधी कार्य तय समय सीमा में पूरा किया जाए, ताकि प्रदेश में उपभोक्ताओं को निर्बाध रूप से बिजली की आपूर्ति की जा सके। इस अवसर पर अधीक्षण अभियंता एसएस राय, केडी बंसल, रणबीर सिंह, एमएन रोहिल्ला, राजेंद्र सभरवाल, जोगेंद्र हुड्डा, हरिदत्त, कार्यकारी अभियंता बिजेंदर लांबा, भीमसेन, अनिश अरोड़ा सहित निगम के अनेक अधिकारी एवं विभिन्न एजेंसियों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।