वन घोटाले में फंसे पूर्व कांग्रेसी मंत्री Sadhu Dharamsot की मुश्किलें बढ़ी, विजिलेंस ब्यूरो ने मोहाली कोर्ट में चालान किया पेश

Spread the News

चंडीगढ़: भ्रष्टाचार मामले में फंसे कांग्रेस के पूर्व मंत्री साधु सिंह धर्मसोत की मुश्किलें आए दिन बढ़ती जा रही है। अब उन्हें लेकर एक और नया मामला सामने आ गया है। दरअसल पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने आज वन घोटाले से जुड़े मामले में मोहाली कोर्ट में 1200 पेज का चालान पेश कर दिया है और मामले को नियमित सुनवाई के लिए इसे सेशन कोर्ट में भेज दिया गया है।

राज्य सतर्कता ब्यूरो के एक प्रवक्ता ने इस संबंधी जानकारी देते हुए कहा कि इस वन घोटाले में प्राथमिकी संख्या 7 दिनांक 6-7-2022, पूर्व वन मंत्री साधु सिंह धर्मसोत, जिला वन अधिकारी गुरमनप्रीत सिंह और एक प्रेस रिपोर्टर के अलावा अन्य आरोपियों के खिलाफ पहले ही दर्ज की जा चुकी थी। उन्हें 7/6/2022 को गिरफ्तार किया गया था और वर्तमान में वह न्यायिक हिरासत में हैं। उन्होंने आगे कहा कि इस मामले में साधु सिंह धर्मसोत, गुरमनप्रीत सिंह, डीएफओ और कमलप्रीत सिंह के खिलाफ सत्र न्यायालय मोहाली में सीआरपीसी की धारा 173 (2) के तहत अंतिम रिपोर्ट दाखिल की गई है। इसके अलावा, मामले को अतिरिक्त और सत्र अदालत मोहाली में सुनवाई के लिए चिह्नित किया गया है और विचार के लिए अगली तारीख 8 अगस्त, 2022 तय की गई है।

उल्लेखनीय है कि पूर्व मंत्री वन विभाग के अन्य आरोपितों एवं निजी ठेकेदारों की मिलीभगत से पेड़ों को काटने के लिए परमिट जारी करने, विभाग के अधिकारियों के तबादले, विभाग में खरीद और जारी करने के मामले में संगठित भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे।