भारतीय विमानन क्षेत्र में अकासा एयरलाइन्स का प्रवेश, Jyotiraditya Scindia ने हरी झंडी दिखा कर पहली उड़ान को किया रवाना

Spread the News

नई दिल्ली: भारतीय विमानन क्षेत्र में नवागत ‘अकासा एयरलाइन’ ने आज मुंबई से अहमदाबाद के लिए पहली वाणिज्यिक उड़ान संचालित की। नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और नागर विमानन राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह ने हरी झंडी दिखा कर पहली उड़ान को रवाना किया। मुंबई हवाई अड्डे पर आयोजित एक संक्षिप्त समारोह में सिंधिया और जनरल सिंह के साथ नागर विमानन सचिव राजीव बंसल एवं संयुक्त सचिव उषा पाधी वीडियो लिंक से जुड़े थे जबकि एयरलाइन के संस्थापक जाने माने उद्योगपति राकेश झुनझुनवाला, मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनय दुबे मुंबई हवाई अड्डे पर मौजूद थे।

अकासा एयरलाइन के टिकटों की बिक्री 22 जुलाई काे मुंबई, अहमदाबाद, बेंगलुरु एवं कोच्चि से शुरू हो गई थी। शुरुआत में एक सप्ताह तक अकासा एयरलाइन मुंबई एवं अहमदाबाद के बीच 28 उड़ानें संचालित करेगी तथा 13 अगस्त से कोच्चि एवं बेंगलुरु के बीच सेवा शुरू करेगी और सप्ताह में 28 उड़ानें भरेगी। अकासा एयरलाइन के बेड़े में 72 विमान शामिल होंगे।

इस मौके पर सिंधिया ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक अवसर है। बहुत अरसे के बाद भारतीय वायुक्षेत्र में कोई स्वदेशी एयरलाइन प्रवेश कर रही है। उन्होंने कहा कि यह भारतीय विमानन क्षेत्र के लोकतांत्रीकरण होने का एक और प्रमाण है। उन्होंने कहा कि एक समय था जब 130 करोड़ की आबादी में 0.02 प्रतिशत लोग ही विमानों में यात्रा करते थे लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वप्न देखा है कि हवाई चप्पल पहनने वाले भी हवाई जहाज में उड़ सकें। इस लिए देश में हवाई यात्रा अवसंरचनाओं का विस्तार किया जा रहा है। ऐसी आशा है कि आने वाले समय में करीब 40 करोड़ लोग हवाई यात्राएं किया करेंगे।

जनरल सिंह ने भी अपने संबोधन में नयी विमान सेवा के आरंभ होने को एक ऐतिहासिक अवसर बताया और उम्मीद जतायी कि यह विमान यात्रियों की आशाओं पर खरी उतरेगी। अकासा एयरलाइन की रणनीति टियर-2 और टियर-3 शहरों के लिए किफायती विमानन सेवाएं प्रदान करना है और इसके लिए ईंधन की कम खपत वाले विमानों को खरीदा जा रहा है