आयुष्मान स्कीम को मोहल्ला क्लिनिकों में बदलने को लेकर BJP Leader Subhash Sharma ने की CM Mann की निंदा

Spread the News

चंडीगढ़ : भारतीय जनता पार्टी ने मुख्यमंत्री भगवंत मान के उस बयान की निंदा की है कि मोहल्ला क्लीनिकों के शुरू होने के बाद पंजाब को आयुष्मान स्कीम की जरूरत नहीं पड़ेगी। प्रदेश भाजपा महासचिव डॉ. सुभाष शर्मा ने एक बयान में कहा कि इससे सरकार की आयुष्मान स्कीम को लेकर अज्ञानता का पता चलता है या फिर यह पंजाब में इसे बंद करके निजी अस्पतालों को फायदा पहुंचाने की कोई साजिश है। उन्होंने स्पष्ट किया कि आयुष्मान स्कीम का उद्देश्य उन सभी लोगों को द्वितीय और तृतीय लेवल का सुपर स्पेशलिटी इलाज मुहैया करवाना है, जो उसका खर्च नहीं उठा सकते, जबकि मोहल्ला क्लीनिक प्राथमिक चिकित्सा और प्राइमरी मेडिकल केयर के लिए हैं।

उन्होंने कहा कि पंजाब में वास्तव में मोहल्ला क्लीनिकों की जरूरत नहीं है, क्योंकि यहां पहले से ही राज्य, खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में डिस्पेंसरीज का मजबूत नेटवर्क मौजूद है। ऐसे में यदि पंजाब में मोहल्ला क्लीनिक काम करना शुरू कर देते हैं, तो वे सिर्फ प्राथमिक सेहत सुविधाएं ही मुहैया करवाएंगे, हालांकि इस बात में भी आशंका है, क्योंकि ये पहले ही दिल्ली में फेल हो चुके हैं। उन्होंने इसके पीछे जान-बूझकर लोगों को आयुष्मान स्कीम से पीछे हटाने की साजिश होने की आशंका जाहिर की है, ताकि लोग महंगी दरों पर निजी अस्पतालों में इलाज करवाने के लिए मजबूर हों।

उन्होंने कहा कि पंजाब में स्वास्थ्य सेवाएं पहले से ही दयनीय स्थिति में हैं और राज्य सरकार इन्हें दोबारा पटरी पर लाने को लेकर गंभीर नजर नहीं आ रही।
उन्होंने खुलासा किया कि पीजीआई द्वारा पंजाब से मरीजों का इलाज सिर्फ इसलिए दोबारा शुरू नहीं किया गया, क्योंकि राज्य सरकार ने बकाया राशि अदा कर दी, बल्कि यह सिर्फ इसलिए हुआ, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दखल दी।