Cigarette व गलत lifestyle ही नहीं, शराब से भी बढ़ता है cancer का खतरा!

Spread the News

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका परमानैंट इलाज नहीं है इस कारण हर साल दुनिया भर में कैंसर के कारण लाखों लोगों की मौत हो जाती है। इस जानलेवा बीमारी से शरीर की कोशिकाएं नष्ट होने लगती हैं और फिर धीरे-धीरे शरीर के अंग काम करना बंद कर देते हैं। अगर वक्त रहते इस बीमारी का पता चल जाए तो कैंसर का इलाज किया जा सकता है। विश्व कैंसर अनुसंधान के मुताबिक, कुछ चीजें ऐसी हैं जो कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकती हैं। तला हुआ खाना, अधिक पका हुआ खाना, चीनी वाले और परिष्कृत काबोर्हाइड्रेट और प्रोसैस्ड मीट के अलावा शराब पीने से भी कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। यू.के. एक्सप्रैस के मुताबिक लोगों से शराब का कम सेवन करने और लिमिट से अधिक शराब पीने वाले लोगों की संख्या को कम करने की सलाह दी गई है। अगर भारत में शराब की खपत की जाए तो स्टेटिस्टा रिसर्च डिपार्टमैंट द्वारा मार्च 2022 में पब्लिश रिसर्च के मुताबिक, भारत में शराब की खपत 2020 में लगभग पांच बिलियन लीटर थी और 2024 तक यह आंकड़ा लगभग 6.21 बिलियन लीटर तक पहुंचने का अनुमान है। भारत के शराब बाजार में दो मुख्य प्रकार की शराब शामिल थी, भारत में बनी भारतीय शराब और भारत में बनी विदेशी शराब जैसे: बीयर, वाइन आदि। इस रिसर्च में बताया गया है कि भारत में देशी शराब का मार्कीट सबसे अधिक था।

अल्कोहॉलिक ड्रिंक बढ़ाते हैं जोखिम
रैड वाइन, व्हाइट वाइन, बीयर और शराब सहित स•ाी अल्कोहॉलिक ड्रिंक कैंसर के जोखिम को बढ़ाते हैं। जो लोग जितनी अधिक अल्कोहॉलिक ड्रिंक पीता है, उतना ही कैंसर का खतरा बढ़ता है। रिसर्चर्स सालों से इस बात का जवाब ढूंढने में लगे हुए थे, लेकिन हाल ही में वे सही निष्कर्ष पर पहुंचे हैं।