पसीने की बदबू से हैं परेशान तो इस्तेमाल करें ये डियोड्रेंट, इन तरीकों से लंबे समय तक रहेगी महक

Spread the News

डियोड्रेंट का इस्तेमाल कितनी बार करें
डियोड्रेंट का इस्तेमाल हफ्ते में सिर्फ 2-3 बार करें, लेकिन इसका ज्यादा इस्तेमाल हमारी सेहत को नूकसान पहु्ंचा सकता है। इसका सबसे पहला नुकसान आंखों से देखा जा सकता है। कई बार डियोड्रेंट का इस्तेमाल करने से त्वचा पर रैश पड़ जाते हैं और ये रैश शरीर में खुजली उत्पन्न करते है और पीड़ादायक होते हैं।

अपनी त्वचा धो लें
स्किन एक्सपर्ट के अनुसार, पसीने से प्रभावी रूप से छुटकारा पाने के लिए, अंडरआर्म्स और किसी अन्य स्थान पर जहां आपको पसीना आता है, ध्यान केंद्रित करने के लिए एक सौम्य क्लीन्ज़र से स्नान करें या स्नान करें। इसके बाद ही डियोड्रेंट का इस्तेमाल करें। अगर स्किन को क्लीन किए बिना आप डियोड्रेंट का इस्तेमाल करेंगे तो इससे वह आपके शरीर की दुर्गंध से मिलकर एक अजीब सी स्मेल देगा।

गीली स्किन पर डियोड्रेंट ना लगाएं
नहाकर आने के तुरंत बाद कभी भी डियोड्रेंट का इस्तेमाल ना करें, क्योंकि पानी में डियोड्रेंट मिल जाता है जिसके कारण वो उतना असरदार नहीं हो पाता है जितना की होना चाहिए। नहाने के बाद अपनी स्किन के अच्छे से सूखने के बाद ही इसका इस्तेमाल करने चाहिए, ताकि आपकी स्किन इसे अच्छे से सोख सकें और इसकी खुशबू बनी रहे। स्किन एक्सपर्ट कहते हैं कि स्किन को वॉश करने के बाद उसे पूरी तरह से सूखने देने का इंतजार करना चाहिए। अगर गीली स्किन पर ही एंटीपर्सिपरेंट्स और डियोड्रेंट्स लगाते हैं तो गीलापन फॉर्मूला को कम प्रभावी बना सकता है।

जहां भी आपको पसीना आता है वहां डियोड्रेंट लगाएं
यह भी एक तरीका है डियोड्रेंट की प्रभावशीलता बढ़ाने का। जबकि कुछ डियोड्रेंट ब्रांड केवल अंडरऑर्म्स के लिए होते हैं, लेकिन अगर आपको अन्य बॉडी पार्ट्स जैसे घुटनों या भीतरी जांघों के पीछे पसीना आता है तो इसे वहां पर भी यूज कर सकते हैं। हालांकि, किसी भी स्थान पर डियोड्रेंट का इस्तेमाल करने से पहले लेबल की जांच अवश्य करें।

अंडरआर्म्स पर डियोड्रेंट लगाएं
अपने अंडरआर्म्स पर 2−3 ऊपर और नीचे की ओर स्वीप करके डियोड्रेंट लगाएं। यह तकनीक यह सुनिश्चित करने में मदद करती है कि आप अपनी सभी पसीने की ग्रंथियों को ढक रहे हैं। यदि आपके अंडरऑर्म्स में बाल हैं, तो आपको डियोड्रेंट लगाते समय अधिक दबाव डालने की आवश्यकता हो सकती है। शरीर के किसी भी जगह पर डियोड्रेंट ना लगा लें। बल्कि इसे एक खास जगह पर ही लगाया जाना चाहिये जैसे, कलाई, जोड़ों के अंदरूनी भाग, बाइसेप्स एवं ट्राइसेप्स के पास, गला, कोहनियों के नीचे या कान के पीछे आदि।

अपने डियोड्रेंट को सूखने दें
ड्रेसिंग से पहले अपने डियोड्रेंट को सूखने के लिए कई मिनट दें। यह इसे सेट होने का समय देगा और आपको अपने कपड़ों पर दुर्गन्ध से बचने में भी मदद करेगा। साथ ही जब आप डियोड्रेंट को स्किन में सूखने का समय देंगे तो इससे अधिक समय तक आपकी स्किन महकती रहेगी।

कपड़ो पर ना लगाएं डियोड्रेंट
कुछ लोगों की आदत होती है कि वह डियोड्रेंट को अपनी स्किन पर लगाने के स्थान पर उसे कपड़ो पर स्प्रे करते हैं। ऐसा करने से कपड़ों में डियोड्रेंट के दाग तो पड़ते हैं ही, साथ ही थोड़ी देर बाद पसीने की बदबू दोबारा आने लगती है। इसीलिए अगर आप डियोड्रेंट की प्रभावशीलता को बढ़ाना चाहते हैं तो उसे कपड़ों पर इस्तेमाल करने की जगह उसे अपने अंडरआर्म्स की स्किन पर लगाएं।