3884 करोड़ में बनेगा केथलीघाट-ढली नैशनल हाइवे, बनेंगी 5 सुरंग

Spread the News

शिमला : केथलीघाट से ढली नैशनल हाईवे का निर्माण 3884 करोड़ में होगा। राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण ने केथलीघाट से ढली तक दो चरणों में बनने वाले इस नैशनल हाइवे के टैंडर कर लिए हैं। टैंडर होने के बाद आगामी तीन सालों में इस नैशनल हाइवे का निर्माण कार्य पूरा होगा। केथलीघाट से ढली तक नैशनल हाइवे बनने से दोनों स्थलों के मध्य की दूरी करीब 12 किमी कम होगी। राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण परवाणू से ढली तक फोरलेन प्रोजेक्ट का निर्माण कर रहा है। केथलीघाट तक बेशक प्रोजेक्ट का काम चालू होचुका है, मगर अभी इससे आगे ढली तक कार्य प्रारंभ नहीं हुआ है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक नैशनल हाइवे प्राधिकरण दो चरणों में यह कार्य कर रहा है। पहले चरण में केथलीघाट से शकराला तक 17.46 किमी नैशनल हाइवे का निर्माण होगा। इस पर करीब 1844.7 करोड़ की लागत ओघी। केथलीघाट से शकराला तक दो सुरंगों का निर्माण होगा। साथ ही छोटे बड़े 20 पुलों का निर्माण भी किया जाएगा। नैशनल हाइवे के इस सेक्सन में एक टोल प्लाजा भी होगा। जाहिर है कि लोगों को टोल प्लाजा में शुल्क का भुगतान कर ही नैशनल हाइवे से गुजरने की अनुमति होगी। दूसरे चरण में शकराला से ढली तक 10.98 किमी नैशनल हाइवे का निर्माण होगा। इस पर 2040 करोड़ की रकम खर्च होगी। शकराला से ढली के मध्य 3 सुरंगों का निर्माण किया जाएगा। साथ ही छोटे बड़े 7 पुलों का निर्माण होगा।

नैशनल हाइवे के दोनों चरणों का निर्माण कार्य पूरा होने से ऊपरी शिमला अथवा किन्नौर जाने वाले पर्यटकों, आम नागरिकों को अपने वाहनों के साथ शिमला में शहर में प्रवेश नहीं करना पड़ेगा। नतीजतन शिमला में ट्रैफिक जाम की समस्या कम होगी। प्राप्त जानकारी के मुताबिक बीते 11 जुलाई को इस नैशनल हाइवे के दोनों चरणों का टैंडर हो चुका है। टैंडर की शर्तों के मुताबिक कंपनी को इस कार्य को तीन साल में पूरा करना होगा। सनद रहे कि इससे पहले साल 2018 में नैशनल हाइवे अथॉर्टी ने चेतक एंटर प्राइजेज को यह काम सौंपा था, मगर कार्य की रμतार धीमी होने की वजह से टैंडर रद्द कर दिए गए थे।