Panchayat कर्मचारियों के रवैए से पंचायत प्रतिनिधि खफा, कार्रवाई के लिए District Collector को लिखा पत्र

Spread the News

पंचायतों में तैनात कर्मचारियों के रवैये से खफा क्षेत्र पंचायतवासियों ने इसकी शिकायत हमीरपुर जिलाधीश देबश्वेता बनिक के पास पहुंच गई है। पंचायत प्रतिनिधियों का कहना है कि पंचायतें जो विकास कार्य करवाना चाह रही हैं तो पंचायतों में तैनात कर्मचारी इसमें बाधा बन रहे हैं। आलम यह है कि सरकारें पंचायतों में विकास कार्य करवाने के लिए लाखों करोड़ों का बजट जारी करती हैं ताकि इनके लिए बजट की कोई कमी नहीं आने पाए, लेकिन उपमंडल बड़सर की एक ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों नें विकास कार्यों में सम्बंधित विभाग कर्मचारिीयों पर अड़ंगा डालने के आरोप लगाए हैं।

ग्राम पंचायत दंदवीं खंड बिझड़ी तह ढटवाल (बिझड़ी) के प्रतिनिधियों ने शिकायत पत्र में कहा है कि हमारी पंचायत मे कोई भी कार्य नहीं हो रहा है। जब कर्मचारीयों से बाबत काम बात होती है तो वह कोई बहाना बनाकर काम को टाल देते हैं। हमारी पंचायत में विकास के सारे कार्य ठप पड़े हुए हैं। इनकी कोई भी जवाब देही नहीं है व पूरी पंचायत की जनता तंग आ चुकी है। शिकायत के मुताबिक़ हम इस बारे विकास खंड कार्यालय बिझड़ी को भी अवगत करवा चुके हैं परंतु कोई भी कार्यवाही नहीं हुई है।

पंचायत के लोगों का कहना है कि तकनीकी सहायक न तो समय पर और न ही निर्धारित दिन मे आती हैं और न ही कोई कार्य करती हैं। सिर्फ बातों में उलझा कर कोई नया कानून बता कर काम न करने में दिलचस्पी रखती हैं। अब पंचायत प्रतिनिधि उनके विरोध में उतर आए हैं तथा चाहते हैं कि इनके ऊपर प्रशासनिए कार्यवाही करके जवाबदेही ली जाए और इनके कार्य न करने पर जवाब लिया जाए। इसके अलावा मनरेगा मे काम न मिलने की वजह से पंचायत वासियों में भारी आक्रोश है। आरोप है कि समय पर काम का मूल्यांकन नहीं किया जाता जिससे समय पर पैसे का भुगतान नहीं होता है।