Xi Jinping ने विदेशी भाषा प्रकाशन गृह में कार्यरत विदेशी विशेषज्ञों को जवाबी पत्र भेजा

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 25 अगस्त को चीनी विदेशी भाषा प्रकाशन गृह में कार्यरत विदेशी विशेषज्ञों को जवाबी पत्र भेजा। इस वर्ष विदेशी भाषा प्रकाशन गृह की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है, और शी चिनफिंग ने प्रकाशन गृह में कार्यरत सभी कर्मचारियों का सदिच्छापूर्ण अभिवादन किया और विदेशी कर्मचारियों को स्नेहपूर्ण रूप से प्रोत्साहन दिया। अपने जवाबी पत्र में शी चिनफिंग ने कहा कि भिन्न-भिन्न विशेषज्ञ अलग-अलग देशों से आए हैं। उनके पास विभिन्न सांस्कृतिक पृष्ठभूमि है, लेकिन वे चीन और चीनी संस्कृति को पसंद करते हैं।

उन्होंने चीन के विदेशी भाषा अनुवाद और प्रकाशन कार्य के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है। शी चिनफिंग ने कहा कि मानव सभ्यताओं के आदान-प्रदान को बढ़ावा देने के लिए अनुवाद एक महत्वपूर्ण कार्य है। चीन के इतिहास में बौद्ध धर्मग्रंथों का चीनी अनुवाद, आधुनिक पश्चिमी अकादमिक और सांस्कृतिक रचनाओं का चीनी अनुवाद, मार्क्सवादी कालजयी का अनुवाद और प्रसार, और 17वीं व 18वीं शताब्दी में यूरोप में चीनी सांस्कृतिक कालजयी के प्रसार ने मानव सभ्यता की प्रगति पर सकारात्मक भूमिका निभाई है।

आज चीनी कम्युनिस्ट पार्टी लोगों का नेतृत्व कर सफलतापूर्वक चीनी शैली के आधुनिकीकरण के रास्ते पर आगे बढ़ रही है, जिसने मानव सभ्यता के नए रूप का निर्माण किया है। सटीक और विशुद्ध अनुवाद और परिचय के माध्यम से दुनिया नए युग में चीन को बेहतर ढंग से समझ सकती है, जो चीनी और विदेशी सभ्यताओं के बीच आदान प्रदान और आपसी सीख को बढ़ावा देने के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है। शी चिनफिंग ने यह भी कहा कि विभिन्न विदेशी विशेषज्ञ लंबे समय से चीन में कार्यरत हैं। उनके पास चीन के इतिहास, संस्कृति, जातीय विशेषता, विकास प्रक्रिया के बारे में गहरी समझ है।

उन्हें आशा है कि विदेशी विशेषज्ञ अपनी श्रेष्ठता दिखाकर चीनी और विदेशी भाषा के माध्यम से उत्कृष्ट रचनाओं का अनुवाद कर अच्छी तरह से चीन की कहानी सुनाएंगे, अधिक विदेशी पाठकों का चीन के प्रति समझ को बढ़ाने में मार्गदर्शन करेंगे, चीन और दुनिया भर में विभिन्न देशों के बीच आदान-प्रदान और संपर्क को बढ़ावा देने तथा मानव जाति के साझा भाग्य समुदाय की स्थापना को बढ़ावा देने के लिए नया योगदान देंगे। बता दें कि चीनी विदेश भाषा प्रकाशन गृह की स्थापना साल 1952 में हुई, जो नए चीन की स्थापना के बाद चीन में स्थापित सबसे पहला विदेशी प्रकाशन संस्थान है।

पिछले 70 वर्षों में उसने 40 से अधिक भाषाओं में 30 हज़ार से अधिक पुस्तकों का अनुवाद और प्रकाशन किया है, जिनमें नेताओं के लेखन, पार्टी और सरकार के दस्तावेज, राष्ट्रीय परिस्थितियों पर किताबें, सांस्कृतिक कालजयी आदि शामिल हैं, और दुनिया भर में 40 करोड़ से अधिक प्रतियां वितरित की गई हैं। हाल ही में विदेशी भाषा प्रकाशन गृह में 5 विदेशी कर्मचारियों ने शी चिनफिंग को पत्र भेजा, जिसमें उन्होंने शी चिनफिंग : चीन की शासन व्यवस्था" समेत किताबों के अनुवाद के दौरान अपना अनुभव साझा किया और दुनिया को चीन के बारे में समझाने के काम में शामिल होने पर गर्व महसूस किया। (साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)