दो महीने में पंजाब पुलिस ने गुजरात, महाराष्ट्र से तस्करी की गई 185.5 KG हेरोइन की बरामद : IGP Sukhchain Gill

Spread the News

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देशों पर पंजाब पुलिस ने राज्य में ड्रग तस्करों के खिलाफ अपनी कार्रवाई तेज कर दी है। वहीं अब सामने आया है कि गुजरात और महाराष्ट्र के बंदरगाह भारत में ड्रग्स की तस्करी का नया मार्ग बने हैं। पिछले दो महीनों में, पंजाब पुलिस ने गुजरात और महाराष्ट्र के बंदरगाहों के माध्यम से तस्करी कर लाए गए 185.5 किलो हेरोइन को बरामद किया है। पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) मुख्यालय सुखचैन सिंह गिल ने आज इस संबंधी जानकारी देते हुए कहा कि यह खेप पंजाब में पहुंचाई जानी थी। मोहाली पुलिस ने बीते दिन गुजरात के भुज की ओर आ रहे एक ट्रक से 38 किलो हेरोइन बरामद की – जो जाहिर तौर पर गुजरात के समुद्री मार्ग से भारत की सीमाओं में प्रवेश कर गई थी। इसके साथ दो तस्करों को भी काबू किया। आईजीपी ने कहा कि यह बरामदगी पिछले सप्ताह राज्य में बरामद 13.51 किलोग्राम हेरोइन के अतिरिक्त है, जिससे साप्ताहिक संचयी मात्रा 51.51 किलोग्राम हो गई है।

इससे पहले, 12 जुलाई को गुजरात के साथ एक संयुक्त अभियान में, पंजाब पुलिस ने गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर एक कंटेनर से 75 किलो हेरोइन बरामद की थी, जबकि इसी तरह की कार्रवाई में महाराष्ट्र पुलिस ने 15 जुलाई को एक कंटेनर से 72.5 किलो हेरोइन बरामद की थी।

ड्रग रिकवरी पर अपने साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, आईजीपी ने आगे कहा कि पंजाब पुलिस ने राज्य भर में नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम के तहत 33 वाणिज्यिक सहित 283 प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज करने के बाद 370 ड्रग तस्करों / आपूर्तिकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा पंजाब पुलिस को नशों के खिलाफ पूरी आज़ादी देने के बाद सीमावर्ती राज्य पंजाब से नशीले पदार्थों के खतरे से निपटने के लिए व्यापक नशीले पदार्थ विरोधी अभियान शुरू किए गए हैं।

भारी मात्रा में हेरोइन बरामद करने के अलावा पुलिस ने 1.09 करोड़ रुपये, 13 किलो अफीम, 12 किलो गांजा, सात क्विंटल अफीम की भूसी, 1.36 लाख नशीला गोलियां/कैप्सूल/इंजेक्शन/वायल समेत अन्य मादक पदार्थ बरामद किए हैं।

इस बीच, पंजाब के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गौरव यादव ने सभी सीपी/एसएसपी को सख्ती से आदेश दिया है कि वे सभी शीर्ष ड्रग तस्करों और अपने अधिकार क्षेत्र में नशीली दवाओं की तस्करी के लिए कुख्यात हॉटस्पॉट्स की पहचान करके ड्रग तस्करों के खिलाफ नकेल कसें और एक तलाशी शुरू करें।