क्रिकेट में वापसी के बाद ‘डायनामाइट’ बनकर उभरे हार्दिक पांड्या : रोहित शर्मा

Spread the News

दुबई: दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप ग्रुप-ए मैच में पांच विकेट से जीत हासिल की। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वह इस पल का इंतजार कर रहे थे। दो गति वाली पिच पर 148 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को आखिरी छह ओवरों में 59 रन चाहिए थे, जहां टीम को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा। हालांकि, पांड्या जैसा बल्लेबाज जब क्रीज पर मौजूद हो तो टीम की सारी मुश्किलें जमींदोज हो जाती हैं।

पांड्या ने 19वें ओवर में तीन चौके लगाकर टीम को जीत की राह पर ले गए। उन्होंने कुल 17 गेंदों पर 33 रन बनाए, जो कि नबाद रहे। वहीं, रवींद्र जडेजा ने 29 गेंदों पर 35 रन की पारी खेली और दोनों के बीच 29 गेंदों पर 52 रन की साझेदारी हुई।

अगर गेंदबाजी की बात करें तो पांड्या ने अपने चार ओवरों में 25 रन देकर 3 विकेट झटके, जबकि वरिष्ठ तेज गेंदबाज भुवनेश्वर ने 4 ओवर में 4 विकेट झटककर 26 रन दिए। वहीं, गेंदबाजों ने पाकिस्तान को 147 रन पर आउट कर दिया। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने शेष दो विकेट लिए।

रोहित ने मैच के बाद कहा, ‘‘हम जानते थे कि टीम मैच जीत सकती है। हमें विश्वास था और जब आपके पास यह विश्वास है, तो ये चीजें हो सकती हैं। यह लोगों को स्पष्टता देने के बारे में है, ताकि वे अपनी भूमिका अच्छी तरह से जान सके। हां, भारतीय गेंदबाजों ने पिछले एक साल में काफी लंबा सफर तय किया है और उन्होंने अलग-अलग परिस्थितियों में अच्छी तरह से अनुकूलित किया है।’’

रोहित ने पांड्या की हरफनमौला क्षमताओं की बहुत प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘‘जब से हार्दिक ने वापसी की है, तब से वे अपनी शानदार फॉर्म में हैं। जब वह टीम का हिस्सा नहीं थे, तो उन्होंने अपने शरीर और अपने फिटनेस पर ध्यान दिया। उनकी बल्लेबाजी की गुणवत्ता हम सभी जानते हैं और उन्होंने वापसी के बाद अपने आप को डायनामाइट में बदला है।’’

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम भी पांड्या की हरफनमौला क्षमताओं से हैरान थे, जबकि उन्होंने स्वीकार किया कि उनकी टीम वास्तविक ओवरों से 10 से 15 रन कम थी। जिस तरह से हमने पारी की शुरुआत की वह शानदार रही, लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया।