हॉकी के जादूगर Major Dhyan Chand के बेटे को दी जाएगी उनकी हॉकी स्टिक

Spread the News

मेरठ: हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद की हॉकी स्टिक जो दशकों से मेरठ में संरक्षित थी, उसे झांसी ले जाया गया है। उसकी देखरेख का काम कोच सतीश शर्मा और खेल अधिकारियों सहित खिलाड़ियों की एक टीम कर रही है। हॉकी के जादूगर के बेटे अशोक ध्यानचंद को 117वीं जयंती के मौके पर झांसी में यह हॉकी स्टिक सौंपी जाएगी।

कोच सतीश शर्मा ने कहा, ‘यह हॉकी स्टिक 66 साल से अधिक पुरानी है। ‘दद्दा’, जिसे हॉकी के दिग्गज के रूप में जाना जाता था, 1956 में इस हॉकी स्टिक के साथ अभ्यास करते थे। ये हॉकी स्टिक अरुण शर्मा के पास थी जो हॉकी मेकर स्वर्गीय सोहन लाल शर्मा के पोते हैं। सोहन लाल के साथ मेजर ध्यानचंद काफी समय बिताते थे। अरुण ने लीजैंड की स्मृति को जीवित रखने के लिए इसे अपने पास सुरक्षित रखा।’

उन्होंने कहा, ‘हाल ही में, अशोक ध्यानचंद ने उस हॉकी स्टिक के लिए अनुरोध किया। जब अरुण को इसके बारे में पता चला, तो वह खुशी-खुशी उसे सौंपने के लिए तैयार हो गए। इस स्टिक को अब झांसी में एक स्पोर्ट्स म्यूजियम में रखा जाएगा, जो वर्तमान में निमार्णाधीन है।’