जिंदगी से प्यार करें और अवसाद से दूर रहें

Spread the News

अवसाद तो स्नायविक और मानसिक रोगों में से एक है। जब हम इस रोग के बारे में बातें करते हैं, तो हमें चीन के हांगकांग के प्रसिद्ध गायक, अभिनेता और संगीतकार लेस्ली चेउंग का विचार आता है। खेद की बात है कि वे अवसाद को सहन नहीं कर सका और 1 अप्रैल 2003 को उन्होंने आत्महत्या कर ली। बताया जाता है कि लेस्ली चेउंग को गायन और प्रदर्शन कला में बहुत पुरस्कार मिले हैं। उदाहरण के लिये वर्ष 2005 में उन्हें चीनी फिल्म सदी के 100 उत्कृष्ट अभिनेताओं में से एक के रूप में चुना गया था। वर्ष 2010 में, उन्हें सीएनएन द्वारा “इतिहास में 25 महानतम एशियाई अभिनेताओं” में से एक के रूप में चुना गया था। और ठीक उसी साल उन्हें सीएनएन के “पिछले 50 वर्षों की दुनिया में 20 सबसे प्रसिद्ध गायक” में शामिल किया गया था। 

गौरतलब है कि 12 सितंबर को लेस्ली चेउंग का जन्मदिन है। हालांकि उन की मौत को 19 वर्ष बित चुके हैं, लेकिन अभी तक इस दिन उन के बहुत से फ़ैंस लेस्ली चेउंग की याद में उन के जन्मदिन पर रंगारंग स्मारक गतिविधियों का आयोजन करते हैं। हाल ही में चीन में स्नायविक और मानसिक रोगों की घटनाएं साल-दर-साल बढ़ रही हैं, जिस पर समाज में व्यापक ध्यान केंद्रित हुआ है। वर्ष 2000 के 16 सितंबर को चीन ने हर साल के सितंबर को “मस्तिष्क स्वास्थ्य माह” निश्चित किया। साथ ही चीनी चिकित्सा संवर्धन संघ की मस्तिष्क स्वास्थ्य विशेष कमेटी के सौ से अधिक प्रसिद्ध विशेषज्ञों और विद्वानों ने मस्तिष्क स्वास्थ्य दिवस की स्थापना करने का सुझाव पेश किया। जिससे यह दिवस अस्तित्व में आया है। ताकि लोगों से मस्तिष्क स्वास्थ्य पर ख्याल रखने की अपील की जा सके।

पर जीवन में मस्तिष्क की रक्षा कैसे करें? चीनी चिकित्सकों ने ये सुझाव पेश किये। पहला, उचित व्यायाम करना चाहिये। दूसरा, जीवन में नियम होने चाहिये। तीसरा, मस्तिष्क का अकसर प्रयोग करना चाहिये। चौथा, धूम्रपान बंद करना और शराब पीने को सीमित करना चाहिये। पाँचवाँ, दूसरों के साथ अधिक संवाद करना और खुश रहना चाहिये।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)