विजिलेंस ने रिश्वतखोरी के आरोप में दो अलग-अलग ASI को किया गिरफ्तार

Spread the News

चंडीगढ़ : पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने राज्य में भ्रष्टाचार को खत्म करने के अभियान के दौरान आज सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) लखविंदर सिंह को 2000 रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा। इसके अलावा थाना सिटी खरड़, एसएएस नगर में तैनात एएसआई सोमनाथ के खिलाफ 60 हजार रुपए रिश्वत मांगने के आरोप में भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया गया है।

राज्य सतर्कता ब्यूरो के प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि शिकायतकर्ता गौरव निवासी अमन नगर, कपूरथला की शिकायत पर उक्त आरोपी एएसआई को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि शिकायतकर्ता ने विजिलेंस ब्यूरो से संपर्क कर आरोप लगाया कि दुकान पर उसका अपने साथी के साथ मामूली झगड़ा हुआ था और संबंधित एएसआई ने पुलिस में दर्ज शिकायत के मामले में मदद करने के बदले उससे पैसे की मांग की थी।

शिकायत के तथ्यों और साक्ष्यों की जांच के बाद जालंधर रेंज से विजिलेंस ब्यूरो की टीम ने जाल बिछाकर उक्त एएसआई को दो सरकारी गवाहों की मौजूदगी में शिकायतकर्ता से 2,000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया गया। इस संबंध में आरोपी पुलिस अधिकारी के खिलाफ विजिलेंस ब्यूरो के जालंधर थाने में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

प्रवक्ता ने आगे बताया कि एक अन्य मामले में विजिलेंस ब्यूरो ने एएसआई सोमनाथ के खिलाफ 60 हजार रुपये की रिश्वत मांगने के आरोप में भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया है। उन्होंने बताया कि ग्रीन कंफर्ट होम्स, खरड़, जिला एसएएस नगर निवासी बलबीर सिंह की शिकायत पर विजिलेंस ब्यूरो ने एएसआई सोम नाथ के खिलाफ मामला दर्ज किया है।