ग्रामीणों ने रोका CM Jai Ram Thakur का काफिला, लगाई इंसाफ की गुहार

Spread the News

रच्छयालु ब स्नोरा के सैकड़ों ग्रामीणों ने आज मांजी पुल के पास मुख्यमंत्री के काफिले को रोककर मुख्यमंत्री के आगे गुहार लगाई के गगल पुलिस थाने के सभी कर्मचारियों को बर्खास्त किया जाए क्योंकि 8 सितंबर की रात को सचिन ने रोहित पर जानलेवा हमला किया था जिस पर गंभीर अवस्था में उसे टांडा में ले गया था 10 सितंबर को ग्रामीणों ने गग्गल पुलिस थाना के समक्ष धरना दिया था के पुलिस की लापरवाही से रोहित आज जिंदगी और मौत से जूझ रहा है जिस पर कांगड़ा के डीएसपी मदन धीमान ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि 24 घंटे में पुलिस कार्रवाई करेगी और जो दोषी होगा उसे इस थाने से स्थानांतरित किया जाएगा लेकिन चौबीस घंटे के अंदर ही गगल पुलिस के थाना प्रभारी पुष्पराज को स्थानांतरित करके पुलिस लाइन भेज दिया और कल्याण सिंह ठाकुर को गग्गल पुलिस थाने में नियुक्त कर दिया गया और इतना ही नहीं कांगड़ा के डीएसपी मदन धीमान ने कहां है कि गगल के तीन और कर्मचारियों को स्थानांतरित कर दिया गया है जिनमें से हवालदार नसीब कुमार ,विजय कुमार और एएसआई रविंदर कुमार को गगल थाने से स्थानांतरित कर दिया गया है। के बावजूद दोनों पंचायतों के महिलाओं ने सीएम के काफिले को निकलने के बाद आधे घंटे में ही नेशनल हाईवे पर चक्का जाम कर दिया जाम इतना लग गया के माजी पुल से लेकर मटौर तक और स्नोरा से लेकर राजोल तक वाहनों की कतारें लग गई। मौके के हालात को देखकर कांगड़ा के एसडीएम नवीन तंवर मौके पर पहुंचे और वहां पर बैठे धरने में महिलाओं से बातचीत करके मामले को सुलझाया और वाहनों के लिए रास्ता खुलवाया।