हकृवि का कृषि मेला संपन्न, 1 लाख 31 हजार किसान हुए शामिल

Spread the News

हिसार: चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में आयोजित दो दिवसीय रबी कृषि मेला आज संपन्न हुआ। मेले के दूसरे दिन बुधवार को भी किसानों की भारी गहमा-गहमी रही। मेले में दोनों दिन हरियाणा के अलावा पंजाब, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश राज्यों से करीब 1 लाख 31 हजार किसान शामिल हुए। उन्होंने करीब 1 करोड़ 50 लाख रुपए के रबी फसलों व सब्जियों की उन्नत व सिफारिशशुदा किस्मों के प्रमाणित बीज तथा फलदार पौधों की नर्सरी खरीदी। विश्वविद्यालय के इतिहास में यह पहली बार है कि इतनी बड़ी संख्या में किसानों ने कृषि मेले में भाग लिया है। मेले के समापन अवसर पर विश्वविद्यालय के अनुसंधान निदेशक डॉ. जीत राम शर्मा मुख्य अतिथि थे।

उन्होंने किसानों को इस प्रकार के आयोजनों में बढ़- चढ़कर भाग लेने का आह्वन किया। डॉ. शर्मा ने बताया कि मेले में किसानों को विश्वविद्यालय के अनुसंधान फार्म का भरमण करवाकर उन्हें वैज्ञानिक विधि से उगाई गई फसलों के प्रदर्शन प्लॉट दिखाए गए तथा उन्हें जैविक खेती, खेती में जल व प्राकृतिक संसाधन संरक्षण, कृषि उत्पादन व गुणवत्ता बढ़ाने संबंधी महत्वपूर्ण जानकारियां दी गई। इस अवसर पर किसानों ने विश्वविद्यालय की ओर से मिट्टी व पानी जांच के लिए की गई व्यवस्था का भी लाभ उठाया। इनके अतिरिक्त किसानों ने प्रश्रोत्तरी सभाओं में भाग लेकर वैज्ञानिकों से कृषि व पशुपालन संबंधी अपनी समस्याओं एवं शंकाओं को दूर किया तथा उनके लिए आयोजित हरियाणवी सांस्कृतिक कार्यक्रम में मनोरंजन किया।

सह निदेशक विस्तार एवं मेला अधिकारी डॉ. कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि मेले में किसानों के आकर्षण का विशेष केन्द्र रही कृषि-औद्योगिक प्रदर्शनी में करीब 270 स्टॉल लगाए गए थे। इन स्टॉलों में सीड गु्रप में शक्तिवर्धक हाईब्रिड, गुडविल हाइब्रिड व समय सीड्स तथा सुपर सीड्स ने क्रमश : प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय पुरस्कार, इन्सैक्टिसाइडस/पैस्टीसाइडस व फार्मा में सिनजेंटा, क्रिस्टल/यूपीएल तथा जय हिन्द वेट फार्मा, फर्टिलाइजर गु्रप में इफको, कृभको तथा यारा और मशीनरी/ट्रैक्टर गु्रप में सुकून, ओम एग्रीइम्पलिमेंटस तथा बरवाला एग्रो सैंटर ने क्रमशº प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय पुरस्कार प्राप्त किए।