पेड़ से लटके दो सगी बहनों के शव का मामला: पुलिस ने 6 को किया गिरफ्तार और किए बड़े खुलासे

Spread the News

लखीमपुर खीरी: उत्तर प्रदेश के लखीमपुुर खीरी जिले में बीते दिन अनुसूचित जाति की दो नाबालिग सगी बहनों की सनसनीखेज हत्या के मामले में पुलिस ने चार नामजद सहित छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इस संबंध में लखीमपुर खीरी एसपी संजीव सुमन ने बताया कि चारों नामजद आरोपियों को बीती रात गिरफ्तार करने के बाद दो अन्य को सुबह पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया कि दोनों बहनों की आरोपियों से मित्रता थी। इनकी पहचान जुनैद पुत्र इजराइल, सोहेल पुत्र इस्लामुद्दीन, हफ़ीजुर्रहमान पुत्र अजीजुरहमान, आरिफ़ उर्फ छोटे पुत्र अहमद हुसैन, करीमुद्दीन उर्फ डीडी पुत्र कलीमुद्दीन और छोटू पुत्र चेतराम गौतम के रूप में हुई है। जुनैद को आज वीरवार सुबह मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया है। जुनैद को पैर में गोली लगी है।

वहीं, पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया गया था कि लड़कियों का अपहरण हुआ है, लेकिन पुलिस ने इस संबंधी खुलासा किया है कि लड़कियां खुद अपनी मर्ज़ी से लड़कों के साथ गई थीं। आरोपी पहले से ही लड़कियों को जानते थे। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि सोहेल और जुनैद ने लड़कियों के साथ जबरन संबंध बनाए थे।

पेड़ से लटके मिले थे शव

बता दें कि लखीमपुर खीरी जिले में बीते दिन गन्ने के खेत में एक पेड़ से दो दलित सगी बहनों के शव लटकते हुए मिले थे, जिसके बाद पूरे इलाके में सनसनी फ़ैल गई थी। इस घटना को लेकर तमोलीन पुरवा गांव की रहने वाली माया देवी ने बताया, वह 15 साल और 17 साल की अपनी दो बेटियों के साथ घर के बाहर बैठी हुई थी। इसी बीच जब वह बेटियों को बाहर छोड़ कपड़े डालने के लिए घर के अंदर चली गई तभी मौके पर 3 युवक पहुंचे। पीड़ित परिवार का आरोप है कि दोनों बहनों का तीन युवकों ने दिन-दहाड़े अपहरण किया था, जिसके बाद दोनों लड़कियों के शव पेड़ से लटके हुए मिले थे।