श्री दरबार साहिब में टाइटलर की तस्वीर वाली T-shirt पहनकर आए आरोपी की जमानत अर्जी खारिज

Spread the News

अमृतसर: 1984 के सिख नरसंहार के आरोपी कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर की तस्वीर वाली टी-शर्ट पहनकर श्री दरबार साहिब में प्रवेश करने वाले करमजीत सिंह गिल दायर की गई जमानत की अर्जी को स्थानीय जिला सत्र न्यायाधीश डी. एस रल्हन ने खारिज कर दिया है। इस संबंध में कुलविंदर सिंह रामदास ने कहा कि करमजीत सिंह गिल के वकीलों ने अदालत में तर्क दिया कि उनका इरादा धार्मिक भावनाओं को भड़काने का नहीं था, बल्कि यह कि वह अपने राजनीतिक गुरु की तस्वीर के साथ टी-शर्ट पहनकर पूजा करने गए थे, जो कि अपराध नहीं है।

वहीं, कमिश्नरेट पुलिस द्वारा की गई जांच में उसके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को भड़काने के आरोप में धारा 153-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है। वहीं लोक अभियोजक अंजू शर्मा व शिरोमणि समिति के अधिवक्ता भगवंत सियालका व एस. मंजीत सिंह छिना दिखाई दिए, साथ में एस. स्वजीत सिंह सियालका, रोहित शर्मा, सुखराज सिंह मान और गुरप्रीत सिंह बसरके ने पेश होकर तर्क दिया कि कथित आरोपी श्री दरबार साहिब में मत्था टेकने के लिए नहीं बल्कि केवल सांप्रदायिक भावनाओं को भड़काने के लिए गए थे। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी उक्त व्यक्ति ने अपने जन्मदिन पर अपने राजनीतिक गुरु की तस्वीर के साथ केक काटा था, जिसके बाद उन्हें धमकियां मिलीं और पुलिस ने उन्हें सुरक्षा प्रदान की।

यह शख्स पहले दूसरी शर्ट पहनकर श्री दरबार साहिब में दाखिल हुआ, लेकिन बाद में इस टी-शर्ट को पहनकर जिस पर जगदीश टाइटलर की तस्वीर छपी थी, वह श्री दरबार साहिब में घुसा और तस्वीरें लीं, जिसे बाद में उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर किया। वह दरबार साहिब में नतमस्तक होने के लिए भी नहीं पहुंचे, इसलिए यह स्पष्ट है कि वह केवल एक समुदाय की धार्मिक भावनाओं को भड़काने के लिए गए थे। माननीय न्यायालय ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद आरोपी की जमानत अर्जी खारिज कर दी।