पाकिस्तान के पूर्व अंपायर Asad Rauf का निधन, मैच फिक्सिंग बैन के बाद बेचने लगे थे जूते-कपड़े

Spread the News

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व अंपायर असद रऊफ का लाहौर में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 66 साल के थे। उन्होंने वर्ष 2000 में बतौर अंपायर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शुरुआत की थी। उन्होंने 64 टेस्ट मैच में अंपायरिंग की, जिनमे वह 49 मैचों में मैदानी अंपायर जबकि 15 मैचों में टीवी अंपायर रहे। इसके अलावा उन्होंने 139 वनडे और 28 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी अंपायरिंग की। वह 2000 के दशक में पाकिस्तान के प्रमुख अंपायरों में से एक थे। 2013 में उनका करियर तब समाप्त हो गया, जब मुंबई पुलिस ने IPL स्पॉट फिक्सिंग में उन्हें आरोपी बनाया। तब रऊफ इस टूर्नामेंट में अंपायरिंग कर रहे थे।

उनके परिजनों ने पुष्टि करते हुए बताया कि रऊफ को बुधवार की रात दिल का दौरा पड़ा। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके भाई ने लाहौर में कहा, “वह पिछले दो दिन से अच्छा महसूस नहीं कर रहे थे और जल्दी घर आ गए थे। चिकित्सकों ने बताया कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा है।”

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के अध्यक्ष रमीज राजा ने ट्वीट करके कहा, “असद रऊफ के निधन का समाचार सुनकर बहुत दुखी हूं। वह न केवल एक अच्छे अंपायर थे बल्कि उनमें हास्य का पुट भी भरा था। वह हमेशा मेरे चेहरे पर मुस्कान बिखेर देते थे और जब भी मुझे उनकी याद आएगी तो वह ऐसा करेंगे। उनके परिवार के प्रति मेरी सहानुभूति है।”

रऊफ ने पाकिस्तान के नेशनल बैंक और रेलवे की तरफ से 71 प्रथम श्रेणी मैच खेले और बाद में वह अंपायर बन गए। उन्हें अप्रैल 2006 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के एलीट पैनल में शामिल किया गया था। उन्होंने महिला टी-20 में भी 11 मैचों में अंपायरिंग की। अलीम दार के साथ वह पाकिस्तान के प्रमुख अंपायरों में शामिल रहे।