पानी की टंकी ओवरफ्लो होने पर होगी कार्रवाई, पेयजल कंपनी ने बनाई 6 निगरानी टीमें

Spread the News

शिमला : शिमला शहर में पेयजल की बर्बादी करने पर पेयजल कंपनी सख्त कार्रवाई अमल में लाएगी। यदि किसी भी उपभोक्ता की पानी की टंकी ओवर फ्लो और पाइप लाइन में लीकेज पाई गई तो पहले नोटिस जारी होगा और उसके बाद वाटर कनैक्शन काट दिया जाएगा। शहर में पानी की टंकियों व पाइप लाइन में रोजाना होने वाले ओवर फ्लो व लीकेज से बर्बाद हो रहे पानी को बचाने के लिए पेयजल कंपनी ने एक्शन प्लान तैयार किया है। जिसके तहत शहर के सभी 6 जोन के लिए 6 निगरानी टीमें गठित की गई हैं। जेई की अध्यक्षता में गठित की गई टीमों में चार अन्य कर्मचारी शामिल है।

एक्शन प्लान के तहत टीमें रोजाना अपने जोन के एक एरिया का निरीक्षण करेगी, इस दौरान किसी के पानी की टंकी ओवर फ्लो या फिर पाइप लाइन में लीकेज पाई जाने पर नोटिस जारी करेगी। यही नहीं रोजाना होने वाले निरीक्षण कार्य की रिपोर्ट अधिकारियों को दी जाएगी। नोटिस के बाद भी ओवर फ्लो या लीकेज ठीक न करवाने पर कंपनी वाटर कनैक्शन काट देगी। वीरवार से एक्शन प्लान के तहत सभी टीमों ने निरीक्षण कार्य शुरू कर दिया हैं, जिसके तहत चौड़ा मैदान जोन में किए गए निरीक्षण में 3 मामले सामने आए है। इन तीनों भवन मालिकों को नोटिस जारी कर दिया गया है। बता दें कि लोगों की पानी की टंकी ओवर फ्लो होने और पाइप लाइन में लीकेज होने से भारी मात्र में पानी बर्बाद होता है, जिसपर अब पेयजल कंपनी रोक लगाने के लिए सख्त कार्रवाई करेंगी।

लोगों की पानी की टंकी ओवर फ्लो होने व पाइप लाइन में लीकेज की रोकथाम के लिए जोन वाइज 6 टीमें गठित की गई है। जो रोजाना अपने एरिया का निरीक्षण कर नजर रखेंगे। ओवर फ्लो व लीकेज पाए जाने पर नोटिस जारी होगा, जिसके बाद वाटर कनैक्शन काट दिया जाएगा। -आदर्श चौहान, एसडीओ वाटर सप्लाई