CARE Hospitals ने एशिया पैसिफिक में Medtronic Hugo Robotic System से पहली स्त्री रोग Surgical प्रक्रिया की

Spread the News

हैदराबाद स्थित केयर हॉस्पिटल्स ग्रुप ने गुरुवार को मेडट्रोनिक ह्यूगोटीएम रोबोटिक-असिस्टेड सर्जरी (आरएएस) प्रणाली का उपयोग करते हुए एशिया-प्रशांत क्षेत्र में पहली स्त्री रोग (हिस्टेरेक्टॉमी) सर्जिकल प्रक्रिया पूरी करने की घोषणा की। यहां बंजारा हिल्स में स्थित ग्रुप की प्रमुख सुविधा में पद्मश्री डॉ मंजुला अनागनी के नेतृत्व में केयर अस्पतालों की विशेषज्ञ नैदानिक टीम द्वारा इस सर्जिकल प्रक्रिया का प्रदर्शन किया गया। यह घोषणा राज्य के वित्त, स्वास्थ्य, चिकित्सा और परिवार कल्याण मंत्री टी हरीश राव, केयर हॉस्पिटल्स के ग्रुप सीईओ जसदीप सिंह, ग्रुप चीफ ऑफ मेडिकल सर्विसेज निखिल माथुर, मेडट्रॉनिक इंडिया की हेड ऑफ ग्रोथ प्रोग्राम्स, मानसी वाधवा राव की उपस्थिति में की गई।

मंत्री राव ने कहा, ‘‘प्रौद्योगिकी सक्षम स्वास्थ्य देखभाल समाधानों में निवेश सस्ती कीमत पर गुणवत्तापूर्ण रोगी देखभाल सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण है। रोबोट सिस्टम जैसे उच्च गुणवत्ता वाले उपकरण सटीकता में सुधार करने, अस्पताल में रहने को कम करने और रोगी की तेज रिकवरी में मदद करते हैं।’’ केयर हॉस्पिटल्स के ग्रुप सीईओ जसदीप सिंह ने कहा कि अस्पताल हमेशा मेट्रो और गैर-मेट्रो शहरों में रोगियों को प्रौद्योगिकी और नैदानिक विशेषज्ञता से सक्षम स्वास्थ्य देखभाल समाधान प्रदान करने में सबसे आगे रहा है।

सिंह ने कहा, ‘‘मेडट्रॉनिक की ओर से बिल्कुल नए ह्यूगो आरएएस सिस्टम की शुरुआत हमारी अग्रणी पहलों का एक प्रमाण है और हमारे सर्जनों के मरीजों को उच्च गुणवत्ता वाली देखभाल प्रदान करने के निरंतर प्रयासों को पूरा करता है।’’ एक 46 वर्षीय महिला रोगी लंबे समय से एडेनोमायोसिस से पीड़ित थी, एक ऐसी स्थिति जिसके कारण मोटा और बड़ा हो जाता है। उन्होंने एक रोबोट-सहायता प्राप्त कुल हिस्टरेक्टॉमी प्रक्रिया से गुजरना पड़ा जहां ह्यूगो आरएएस प्रणाली का उपयोग करके प्रभावित को हटा दिया गया। केयर हॉस्पिटल्स ग्रुप, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश का पहला अस्पताल है, जिसने मेडट्रॉनिक से इस नई रोबोट-असिस्टेड सर्जरी सिस्टम को स्थापित किया है।

डॉक्टर अनागनी ने कहा, ‘‘हिस्टेरेक्टॉमी के लिए मेडट्रॉनिक से नई आरएएस प्रणाली का उपयोग करना, जो एपीएसी की पहली स्त्री रोग संबंधी प्रक्रिया थी, उच्च अंत नैदानिक देखभाल प्रदान करने के लिए हमारे समर्पण का प्रमाण है। यह हमारी सभी टीमों के लिए गर्व का क्षण है और हम अधिक रोगियों तक न्यूनतम इनवेसिव सर्जरी के शक्तिशाली लाभों तक पहुंच का विस्तार करने के लिए इस अभिनव रोबोटिक प्रणाली का उपयोग करने के लिए तत्पर हैं।’’ मानसी वाधवा राव ने कहा, ‘‘ह्यूगो आरएएस प्रणाली के साथ ये पहले मामले भारत और दुनिया भर में रोबोट-सहायता प्राप्त सर्जरी के लिए एक नए युग की शुरुआत है।’’

उन्नत रोबोटिक कार्यक्रम के बारे में विस्तार से बताते हुए, डॉ माथुर ने कहा कि यह ऐतिहासिक सर्जरी विश्व स्तरीय सर्जनों की हमारी टीम के लिए अन्य नैदानिक विशिष्टताओं में ह्यूगो आरएएस प्रणाली का उपयोग करने के नए अवसर खोलेगी। ह्यूगो आरएएस सिस्टम एक मॉड्यूलर, मल्टी-क्वाड्रेंट प्लेटफॉर्म है जिसे सॉफ्ट-टिशू प्रक्रियाओं की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए डिजाइन किया गया है। यह कलाई वाले उपकरणों, 3डी विजुअलाइजेशन और टच सर्जरी एंटरप्राइज को समर्थन टीमों के साथ जोड़ती है। इसे न्यूनतम इनवेसिव सर्जरी- कम जटिलताएं, छोटे निशान, अस्पताल में कम समय तक रहना और जीवन सामान्य गतिविधियों में तेजी से वापसी के लिए डिजाइन किया गया है।