मजदूर से ऑनलाइन विज्ञापन के जरिए हुई धोखाधड़ी मामले में हाईकोर्ट पहुंची फेसबुक इंडिया

Spread the News

मजदूर से फेसबुक पर ऑनलाइन विज्ञापन के जरिए हुई धोखाधड़ी मामले में फेसबुक इंडिया ने उपभोक्ता निवारण आयोग के फैसले को दी चुनौती है और बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। दरअसल, एक व्यक्ति ने फेसबुक पर विज्ञापन देखकर एक उत्पाद खरीद लिया था। उसके भुगतान के बावजूद डिलीवरी नहीं हुई। इसके बाद पीड़ित व्यक्ति ने उपभोक्ता निवारण आयोग में शिकायत दी थी जिसके बाद धोखाधड़ी वाले विज्ञापन के लिए फेसबुक इंडिया को 25,599 रुपये का भुगतान करने का निर्देश दिया गया था। न्यायमूर्ति मनीष पितले की नागपुर पीठ ने गुरुवार को जून, 2022 में जिला उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग द्वारा पारित आदेश के खिलाफ फेसबुक इंडिया ऑनलाइन सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड और मेटा द्वारा दायर दो याचिकाओं पर सुनवाई की। आयोग ने कंपनियों को एक व्यक्ति को ऑनलाइन खरीदे गए उत्पाद की डिलीवरी न करने पर 599 रुपये का भुगतान कर देने और मानसिक पीड़ा के लिए 25,000 रुपये का भुगतान करने का निर्देश दिया था।