अगर आप भी खड़े होकर करते है पानी का सेवन तो हो जाए सावधान! नहीं तो हो सकते है इन बीमारियों के शिकार

Spread the News

जब भी लोग गर्मी में बाहर से घर आते हैं तो तुरंत फ्रिज से पानी की बोतल निकालकर पी लेते हैं। इतना ही नहीं, पूरा दिन में ऐसा अक्सर ही होता है कि हम बैठकर पानी पीएं। आमतौर पर लोग बेहद जल्दी-जल्दी में खड़े-खडे पानी पीते हैं। आपको भले ही इसमें कोई खराबी नजर न आए लेकिन वास्तव में अपनी इस आदत के कारण आप खुद ही अपनी सेहत के दुश्मन बन जाते हैं। जी हां, खड़े होकर पानी पीने से आपको कई तरह के नुक्सान होते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में आर्थराइटिस का बढ़ता खतरा: आपको शायद जानकर हैरानी हो लेकिन हमेशा ही खड़े होकर पानी पीने वाले लोगों को जीवन में बाद में आर्थराइटिस का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल, मनुष्य के शरीर के जोड़ों में तरल पदार्थ का संचय होता है और इन्हीं तरल पदार्थ के कारण आपके ज्वाइंट्स अच्छे से काम करते हैं लेकिन जब आप खडे होकर पानी पीते हैं तो इससे आपके शरीर में तरल पदार्थ का संतुलन बाधित होता है। तथा जोड़ों में तरल पदार्थ की कमी के चलते आपको गठिया रोग होने की संभावना बढ़ती है।

नहीं बुझती प्यास: जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो आपकी प्यास कभी नहीं बुझती। ऐसे में आपको हर थोड़ी देर में प्यास लगती है। वहीं अगर आप सच में अपनी प्यास बुझाना चाहते हैं तो आप बैठकर व छोटी सिप लेकर पानी पीएं।

water habits know the rules of drinking water | Water Habits: पानी से भी हो  सकते हैं नुकसान, ये चीजें खाने के तुरंत बाद न पिएं कुछ | Hindi News, Health

किडनी हो सकती है खराब: जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो इससे पानी बिना छने ही किडनी से बाहर निकल जाता है। ऐसे में आपकी किडनी खराब होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। इतना ही नहीं, खड़े होकर पानी पीते समय पानी आपके पेट की दीवार से होता हुआ आपकी आंतों तक पहुंचता है। लेकिन पेट की दीवारों पर पानी का छिड़काव आपके डाइजैस्टिव सिस्टम को खराब करता है। साथ ही इससे स्टमक वॉल और गैस्टोइंटेस्टाइनल टैक्ट को भी प्रभावित करता है।

less sleep may harm kidney | 6 घंटे से कम नींद लेने पर खराब हो सकती है आपकी  किडनी - Latest News & Updates in Hindi at India.com Hindi

अल्सर व हार्ट बर्न की समस्या : खड़े होने पानी पीने का एक सबसे बड़ा नुक्सान यह है कि इससे आपको अल्सर व हार्ट बर्न की समस्या का सामना करना पड़ता है। खड़े होकर पानी पीने से एसोफेगस नली के निचले हिस्से पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण आपके पेट और एसोफेगस के बीच संयुक्त स्फिंकर पर भी प्रभाव पड़ता है। परिणामस्वरूप, पेट में एसिड विपरीत दिशा में बहने लगता है और आपको अल्सर व हार्ट बर्न की शिकायत होती है।

do not ignore heartburn as its could alert of cancer and heart decease  healthy lifestyle tips | छाती में जलन की समस्या को न करें इग्नोर, हो सकती  है ये बड़ी बीमारी |

गुर्दे की बीमारी
गुर्दे का काम होता है पूरे शरीर में पानी का प्रवाह करना। यदि आप खड़े होकर पानी पीते है तो पानी पूरे शरीर में नहीं पहुंच पाता और गुर्दे में जमा हो जाता है। इस वजह से मूत्राशय और रक्त में गंदगी जमा होने लगती है।

पेट की बीमारी
खड़े होकर पानी पीने से खाद्य नलिका से गुजरते हुए तेजी से नीचे चला जाता है। इस वजह से पेट की अंदरूनी दीवार और आसपास के अंगों को नुक्सान पहुंचता है। पाचन शक्ति बिगड़ जाती है।

गठिए की समस्या
जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं तो वह जोड़ों में मौजूद तरल पदार्थ के संतुलन को खराब कर देता है। जिसकी वजह से जोड़ों में दर्द की समस्या रहने लगती है।पानी हमेशा आराम से बैठकर पीएं। इससे ही फायदा मिलेगा।

गठिए मरीजों को जरूर खाने चाहिए 5 आहार, दर्द से मिलेगा आराम - arthritis pain  prevention measures-mobile