Press Trust of India: भारत के 76वें ग्रैंडमास्टर बने Pranav Anand, 2500 ELO रेटिंग पर हासिल की यह उपलब्धि

Spread the News

चेन्नई: बेंगलुरु के किशोर शतरंज खिलाड़ी प्रणव आनंद भारत के 76वें ग्रैंड मास्टर बन गए हैं। उन्होंने रोमानिया के मामाइया में चल रही विश्व युवा शतरंज चैंपियनशिप में 2500 ईएलओ रेटिंग की संख्या पार करके यह उपलब्धि हासिल की। इस 15 वर्षीय खिलाड़ी ने ग्रैंड मास्टर उपाधि हासिल करने के लिए बाकी मानदंडों को पहले ही पूरा कर दिया था।

ग्रैंड मास्टर बनने के लिए किसी भी खिलाड़ी को तीन ग्रैंड मास्टर नॉर्म हासिल करने होते हैं और इसके अलावा उनकी ‘लाइव रेटिंग’ 2500 ईएलओ अंकों से अधिक होनी चाहिए। प्रणव ने तीसरा और अंतिम ग्रैंडमास्टर नॉर्म जुलाई में स्विट्जरलैंड में खेले गए बील शतरंज महोत्सव में हासिल किया था।

प्रणव के कोच वी सर्वनन ने पीटीआई से कहा, “वह शतरंज के प्रति जुनूनी है। वह इस खेल को बहुत चाहता है और घंटों तक अभ्यास करने के लिए तैयार रहता है।” सर्वनन ने विश्व युवा शतरंज चैंपियनशिप के अंडर-16 वर्ग के नौवें दौर में प्रणव की जीत के बाद कहा, “वह गणना करने और ‘यंड गेम’ में विशेष रूप से अच्छा है। अभी यह दोनों उसके मजबूत पक्ष हैं।” प्रणव ने पहले दो ग्रैंडमास्टर नॉर्म सिटजेस ओपन (जनवरी 2022) और वेज़रकेप्सो राउंड रॉबिन (मार्च 2022) प्रतियोगिताओं में हासिल किए थे।