फसलों के विविधिकरण पर दिया जा रहा विशेष बल : Virender Kanwar

Spread the News

धर्मशाला : कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि फसलों के विविधिकरण पर विशेष बल दिया जा रहा है। राज्य में जायजा प्रोजेक्ट के तहत 1010 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। ताकि किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ हो सके। बुधवार को धर्मशाला में कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर ने 247 लाख की लागत से निर्मित होने वाले अतिरिक्त कृषि निदेशक कार्यालय के अतिरिक्त भवन का शिलान्यास करने के उपरांत कहा कि किसानों के कल्याण के लिए हिमाचल सरकार ने प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना शुरू की है, जिसके तहत 1 लाख 71 हजार से अधिक किसान लाभांवित हो चुके हैं।

सरकार ने इस पर 58 करोड़ 46 लाख रुपए खर्च किए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कृषि उत्पादन संरक्षण योजना के अंतर्गत खेतों की बाडबंदी, एंटीहेल नेट तथा पॉलीशीट के लिए सिब्सडी का प्रावधान किया गया है। एकीकृत बागवानी मिशन के कार्यान्वयन से बागवानी विकास के लिए उपदान दिया जा रहा है। वीरेंद्र कंवर ने कहा कि वर्तमान सरकार ने कुल्लू व मंडी में हींग की खेती तथा लाहौल में केसर की खेती को बढावा दिया है।

इसके अतिरिक्त जिला ऊना, हमीरपुर व बिलासपुर के वातावरण को दालचीनी की खेती के लिए उपयुक्त पाया गया है तथा इस क्षेत्र में 10 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इस के लिए आईएचबीटी पालमपुर के साथ एक एमओयू साइन किया जा रहा है जिसके तहत प्रतिवर्ष दालचीनी के 40 हजार पौधे किसानों को दिए जाएंगे। इस अवसर पर निदेशक कृषि विभाग बीआर तख्खी, संयुक्त निदेशक डा जीत सिंह, कृषि उपनिदेशक राहुल कटोच, उपनिदेशक बागबानी डा. कमल शील सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।