चीनी राष्ट्रपति को मिला उज्बेकिस्तान का “सर्वोच्च मित्रता” पदक

Spread the News

स्थानीय समय के अनुसार, 15 सितंबर को, चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने समरकंद अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति शौकत मिर्जियोयेव से “सर्वोच्च मित्रता” पदक प्राप्त किया। आयोजित रस्म में राष्ट्रपति मिर्जियोयेव ने कहा कि आज का दिन महान ऐतिहासिक महत्व का दिन है। राष्ट्रपति शी चिनफिंग को उज्बेकिस्तान का पहला सर्वोच्च विदेशी सम्मान यानी “सर्वोच्च मित्रता” पदक प्रदान करना मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है। राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने चीन-उज्बेकिस्तान मैत्री को बढ़ाने, आपसी विश्वास को सुदृढ़ करने, द्विपक्षीय सहयोग को गहराने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। उज्बेकिस्तान के नागरिक उनका बहुत सम्मान करते हैं। शी चिनफिंग आज दुनिया के सबसे महान और उत्कृष्ट राजनेता हैं। उनके नेतृत्व में चीन के आर्थिक सामाजिक निर्माण ने उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की हैं। खासकर चीन ने गरीबी के खिलाफ लड़ाई में विजय हासिल की है, देश में व्यापक खुशहाल समाज का निर्माण पूरा किया है। जिन्हें अंतरराष्ट्रीय समुदाय का व्यापक सम्मान और प्रशंसा मिली है, और चीन के अंतरराष्ट्रीय स्थान तथा प्रभाव में लगातार वृद्धि हो रही है।

मिर्जियोयेव ने यह भी कहा कि राष्ट्रपति शी चिनफिंग की देखभाल और मार्गदर्शन में उज्बेकिस्तान-चीन संबंध अभूतपूर्व ऊंचाइयों तक पहुंचते हुए तेजी से परिपक्व और गतिशील हो गए हैं। आज मैंने राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ संयुक्त वक्तव्य पर हस्ताक्षर किए, जो कि निश्चित रूप से नए युग में उज्बेकिस्तान-चीन व्यापक रणनीतिक साझेदारी को नए स्तर तक बढ़ाएगा और दोनों देशों तथा दोनों देशों के लोगों को निरंतर लाभ पहुंचाएगा। 

शी चिनफिंग ने पदक स्वीकार किया और धन्यवाद देते हुए कहा कि यह “सर्वोच्च मित्रता” पदक पूरी तरह से उज़्बेकिस्तान द्वारा चीन-उज़्बेकिस्तान संबंधों को दिए जाने वाले महत्व और चीनी लोगों के प्रति उज़्बेकिस्तान के लोगों की गहरी मित्रता को दर्शाता है। दो हज़ार साल पहले से ही चीन और उज़्बेकिस्तान दो महान राष्ट्रों के बीच सिल्क रोड के माध्यम से पारस्परिक संवाद और आपसी सीख कायम रहे हैं। 30 साल पहले, दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों की स्थापना हुई, जिससे दोनों देशों के लोगों के बीच मैत्री का नया अध्याय जुड़ा। दोनों देशों के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी ने तेजी से विकास हासिल किया, और विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग ने फलदायी उपलब्धियां हासिल कीं, जिसने न केवल अपने-अपने देश के विकास और पुनरुत्थान को मजबूत रूप से बढ़ावा दिया है, बल्कि मध्य एशिया और दुनिया में शांति और स्थिरता की रक्षा के लिए सकारात्मक ऊर्जा डाली है। चीन उज़्बेकिस्तान के साथ मिलकर द्विपक्षीय मैत्री का नया अध्याय जोड़ने के लिए तैयार है।

बता दें कि “सर्वोच्च मित्रता” पदक उज़्बेकिस्तान का सर्वोच्च विदेशी सम्मान है, जिसका उद्देश्य उन लोगों की प्रशंसा करना है जिन्होंने उज़्बेकिस्तान के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध विकसित किए, अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय गर्म मुद्दों को सुलझाने तथा उज़्बेकिस्तान के राष्ट्रीय विकास में विशेष योगदान दिया है। पदक दिए जाने की शुरुआत के बाद यह पहली बार किसी व्यक्ति को प्रदान किया गया है। 

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)